सहारनपुर: पुलिस जांच में झूठा निकला जमातियों के खाना फेंकने का मामला

Highlights

  • जमातियों पर लगा था खाना फेंकने का आराेप
  • पुलिस जांच में सामने नहीं आई ऐसी काेई बात

By: shivmani tyagi

Updated: 05 Apr 2020, 08:27 PM IST

सहारनपुर। कस्बा रामपुर मनिहारान के क्वारेंटाइन सेंटर में जमातियों के खाना फेंकने का मामला पुलिस जांच में झूठा पाया गया है। एसएसपी दिनेश कुमार (पी) ने इसकी पुष्टि की है।

यह भी पढ़ें: Coronavirus के खिलाफ जंग में फायर ब्रिगेड ने भी संभाला मोर्चा, मैदान में उतारी अपनी मशीनें

दरअसल, रामपुर मनिहारान कस्बे में बनाए गए क्वारेंटाइन सेंटर में जमातियों काे रखा गया है। रविवार काे मीडिया में यह खबरें आई थी कि, जमातियों ने नॉनवेज नहीं मिलने पर खाना फेंक दिया। कुछ अन्य आराेप भी लगाए गए थे। एसडीएम रामपुर के बयान के आधार पर मीडिया में यह खबरें चल रही थी लेकिन बाद में इस घटना की जांच पुलिस से कराई गई ताे ऐसी काेई घटना नहीं हाेना पाया गया।

यह भी पढ़ें: जमातियों के खिलाफ झूठी खबरों का पर्दाफाश होने पर देवबंद के मुफ्ती ने पुलिस के लिए इन शब्दों का किया इस्तेमाल

इसके बाद सहारनपुर पुलिस ने अपने ट्वीटर हेंडल से भी ट्वीट करते हुए यह बताया कि, मीडिया में रामपुर मनिहारान के क्वारेंटाइन से सेंटर माैके पर जब पुलिस ने जांच की ताे इस तरह की घटना हाेना नहीं पाया गया। रामपुर थाना प्रभारी छोटे सिंह ने बताया कि, जमातियों ने कुछ डिस्पाेजल प्लेट खिड़की से बिल्डिंग के पीछे फेंक दी थी। नॉनवेज ना मिलने पर खाना फेंकने जैसी काेई बात सामने नहीं आई।

यह भी पढ़ें: Lockdown में महिला अपराधों पर भी ब्रेक 10 दिन में Domestic Violence का एक भी मामला नहीं

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned