किसानों की सुविधा के लिए डीएम ने उठाया बड़ा कदम

sharad asthana

Publish: Dec, 07 2017 01:56:16 (IST)

Saharanpur, Uttar Pradesh, India
किसानों की सुविधा के लिए डीएम ने उठाया बड़ा कदम

सहारनपुर के विकास भवन में आयोजित विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में डीएम पीके पांडेय ने अधिकारियों को दिए निर्देश

सहारनपुर। खाद और बीज की दुकानों की अब हर 15 दिन में चेकिंग होगी। इस दौरान दुकानों पर रखा स्टॉक चेक किया जाएगा और सैंपल भी लिए जाएंगे। अगर किसी भी दुकान पर फर्जी या नकली खाद बीज मिलता है या फिर किसानों को बिना बिल खाद या बीज बेचा जाता है तो उनके लाइसेंस कैंसिल हों जाएंगे और उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। यह निर्देश गुरुवार को विकास भवन में आयोजित विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में डीएम पीके पांडेय ने दिए। उन्होंने कहा कि किसी भी किसान को नकली या कीमत से अधिक मूल्य पर बीज नहीं मिलना चाहिए। अगर किसी दुकान पर बिना बिल के किसानों को बीज बेचा जा रहा है तो ऐसे दुकानदारों पर भी कार्रवाई हो और पेस्टिसाइड की भी जांच की जाए। इस दौरान मुख्य रूप से खाद और बीज पर ध्यान दिया जाएगा और पूरे जिले में खाद बीज की दुकानों पर उनका पूरा स्टॉक चेक किया जाएगा। साथ ही यह भी देखा जाएगा कि इन दुकानों पर घटिया स्तर का या फिर नकली खाद बीज तो नहीं रखा गया है।

सबसे पहले बनाई जाएं ये सड़कें
विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में सड़कों की हालत और उनको गड्ढा मुक्त कराए जाने पर भी चर्चा हुई। इस दौरान जिलाधिकारी ने साफ निर्देश दिए कि जिन रास्तों से किसान गन्ना लेकर जाते हैं, सबसे पहले उन सड़कों को गड्ढा मुक्त किया जाए। ऐसी सड़कों को प्रमुखता में रखा जाए, जिन सड़कों से किसान गन्ना लेकर जा रहे हैं। इन सड़कों के दुरुस्त हो जाने के बाद जिले की अन्य सड़कों को गड्ढा मुक्त कराने के निर्देश जिलाधिकारी ने दिए हैं।

दो चीनी मिलों के जीएम को नोटिस
जिले में दो चीनी मिलें ऐसी हैं, जिन्होंने अभी तक चालू पेराई सत्र में खरीदे गए गन्ने का भुगतान शुरू नहीं कराया है। इस पर जिलाधिकारी ने नाराजगी जताते हुए गागलहेड़ी और सरसावा के जीएम को नोटिस जारी करने के आदेश दिए हैं। गन्ना विभाग को निर्देशित किया गया है कि किसानों को समय पर उनका भुगतान दिलाया जाए और जो मिलें ऐसा नहीं करती हैं, उनके प्रबंधन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाए।

निर्माणाधीन कॉलेजों की बिल्डिंग जल्द तैयार कराई जाए
जिले में निर्माणाधीन इंटर कॉलेज के निर्माण कार्यों में हो रही देरी पर नाराजगी जताते हुए जिलाधिकारी ने संबंधित विभागों को निर्देशित किया कि जल्द से जल्द राजकीय इंटर कॉलेजों की बिल्डिंग को तैयार कराया जाए। यहां सहारनपुर की कमेला कॉलोनी में प्रस्तावित इंटर कॉलेज की बिल्डिंग को लेकर भी चर्चा हुई और डीएम ने आदेश दिया कि अगर कोई विरोध करता है तो पुलिस को साथ लेकर बलपूर्वक राजकीय कन्या इंटर कॉलेज की बाउंड्री कराई जाए। जिले में कुल 17 कॉलेज का निर्माण कार्य चल रहा है और इन सभी में बेहद धीमी गति होने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी जताते हुए निर्माण कार्य में तेजी लाने के आदेश दिए हैं।

15% से अधिक लाइन लॉस वाले सभी फीडर होंगे चोर घोषित
जिले में बढ़ती चोरी पर नाराजगी जताते हुए जिलाधिकारी ने पावर कॉरपोरेशन के अधिकारियों की क्लास ली और उन्हें कहा कि वह लिस्ट बना लें। ऐसे सभी फीडर जिन पर 15% से अधिक लाइन लॉस हो रहा है, उन्हें चोर लाइन घोषित किया जाए और इन सभी चोर लाइन पर हर दूसरे दिन चेकिंग की जाए। यहां जो बड़े बिजली चोर हैं उनको गिरफ्तार कराया जाएगा और जेल भेजा जाएगा।

अब गांव होंगे ओडीएफ
जिले में खुले में शौच को लेकर एक बार फिर से अभियान को तेज कर दिया गया है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिए हैं कि जिले में हर महीने कम से कम 100 गांव को ओडीएफ घोषित किया जाए। ओडीएफ गांव वह होते हैं, जहां पूरे गांव में एक भी व्यक्ति खुले में शौच नहीं करता है और पूरा गांव शौचालय को अपना चुका होता है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned