'रावण' से नहीं मिल पाए इमरान मसूद, प्रशासन ने रोका

'रावण' से नहीं मिल पाए इमरान मसूद, प्रशासन ने रोका
imran masood

इमरान मसूद ने कहा- सहारनपुर प्रशासन ने अघोषित इमरजेंसी लगा दी है

सहारनपुर। हिंसा के मुख्य आरोपी चंद्रशेखर उर्फ रावण की मुलाकात पर जिला प्रशासन ने सख्ती कर दी है। चंद्रशेखर से मुलाकात करने जेल पर गए कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष इमरान मसूद को प्रशासन ने वापस लौटा दिया। इस पर कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष इमरान मसूद ने बयान दिया है कि सहारनपुर प्रशासन ने अघोषित एमरजेंसी लगा दी और प्रशासन मौलिक अधिकारों का हनन कर रहा है। ऐसे किसी को भी जेल में मुलाकात से नहीं रोका जा सकता।

घटना मंगलवार की है। कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष इमरान मसूद बेहट विधायक नरेश सैनी के अलावा हरिद्वार के पूर्व विधायक अमरीश कुमार और मुरली मनोहर के साथ सहारनपुर जिला जेल में बंद सहारनपुर हिंसा के मुख्य आरोपी चंद्रशेखर उर्फ रावण की मुलाकात पर गए थे। जेल पर इन्हें यह कह दिया कि चंद्रशेखर उर्फ रावण से केवल उसके परिवार के सदस्य ही मुलाकात कर सकते हैं। ऐसा सुनकर इमरान मसूद भड़क गए और उन्होंने जेल प्रशासन से इसका कारण पूछा। इस दौरान उन्हें बताया गया कि प्रशासन की ओर से चंद्रशेखर उर्फ रावण की मुलाकात पर सख्ती कर दी गई है। अब चंद्रशेखर से केवल उसके परिवार के सदस्य ही मुलाकात कर सकते हैं।

इस घटना के बाद इमरान मसूद उत्तर प्रदेश की नंबर वन सीट से विधायक नरेश सैनी के साथ जिलाधिकारी से मिलने कलेक्ट्रेट पहुंचे, लेकिन यहां भी उन्हें डीएम नहीं मिल पाए। इसके बाद उन्होंने डीएम के कार्यालय से बाहर निकलकर कहा कि जिला प्रशासन ने सहारनपुर में अघोषित इमरजेंसी जैसे हालात कर दिए हैं, जिस तरह से उन्हें चंद्रशेखर की मुलाकात से रोका गया है। यह सरासर गलत है। इमरान मसूद ने यह भी कहा कि किसी भी नियम के तहत ऐसा नहीं किया जा सकता। उन्हें जिस तरह से रोका गया है उसके खिलाफ वह अफसरों से बात करेंगे।
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned