सहारनपुर पुलिस ने पकड़े हथियार तस्कर, मुजफ्फरनगर आ रहे हथियार

shivmani tyagi | Publish: Sep, 07 2018 04:49:47 PM (IST) Saharanpur, Uttar Pradesh, India

33 हजार में पिस्टल, 5 हजार में बंदूक आैर तीन हजार में बेचते थे तमंचा

सहारनपुर।
वेस्ट यूपी में हथियार सप्लाई करने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ करने में सहारनपुर पुलिस को कामयाबी मिली है। पुलिस ने कुल 3 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें मुख्य सप्लायर पड़ोसी जिले मुजफ्फरनगर का रहने वाला है। यही हथियार लाने के बाद उन्हे आस-पास के जिलाें में सप्लाई करता है। पुलिस पूछताछ में यह पता चला है कि, बाजार में पिस्टल को ₹33000 में बंदूक को ₹5000 में और तमंचे को ₹3000 में बेचा जा रहा था। मुजफ्फरनगर के रहने वाले इस आदमी का नाम फजरूद्दीन है और मुजफ्फरनगर के कोतवाली नगर क्षेत्र का रहने वाला है। फजरूद्दीन ने सहारनपुर के रहने वाले शाहरुख से हाथ मिलाया था और शाहरुख उसके लिए हथियार बेचता था। पुलिस ने इनसे जो हथियार बरामद किए हैं उनमें पिस्टल तमंचे और बंदूक शामिल हैं। शाहरुख ने सहारनपुर के रहने वाले गौरव वाट्स नाम के एक लड़के को भी पिस्टल बेची थी यह पिस्टल भी पुलिस ने बरामद कर ली है। गौरव को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। इस तरह पुलिस ने कुल 3 लोगों को गिरफ्तार किया है।

 

एसपी सिटी प्रबल प्रताप सिंह के मुताबिक अभियुक्त गणों ने पूछताछ में बताया कि अंतरराष्ट्रीय स्तर के तस्कर हैं। आसपास के राज्यों में भी हथियारों को बेचते हैं। मुजफ्फरनगर का रहने वाला फजरूद्दीन पुत्र नसरुदीन और सहारनपुर का रहने वाला शाहरुख पुत्र जमील बाइक पर और हथियार बेचने जा रहे थे। इसी दौरान पुलिस ने इन्हे पकड़ लिया। पूछताछ में इन्हाेंने बताया कि पिछले एक पिस्टल गाैरव काे भी बेचा था इस आधार पर पुलिस ने गाैरव काे भी गिरफ्तार कर लिया।


यूपी में कहां बन रहे हैं हथियार ?
3 लोगों की गिरफ्तारी और बड़ी संख्या में हथियार बरामद होने के बाद भी अभी यह सवाल ज्याें का क्यों बना हुआ है कि यूपी में आखिर किस जगह पर हथियार बनाए जा रहे हैं ? सवाल यह भी है कि हथियारों की बनाने वाली फैक्ट्री कहां काम कर रही है। इस संदर्भ में पूछने पर एसपी सिटी प्रबल प्रताप सिंह ने बताया कि अभी गिरफ्तार अभियुक्तों से पूछताछ की जा रही है कुछ और सुराग भी पुलिस के हाथ लगे हैं, जिनके आधार पर पुलिस जल्द ही एक और बड़ा खुलासा करेगी। एसपी सिटी ने कहा है कि अभी कुछ बातों को गुप्त रखा जा रहा है।


ये है गिरफ्तार करने वाली टीम
गिरफ्तारी में कुतुबशेर थाना प्रभारी दीपक चतुर्वेदी के अलावा उपनिरीक्षक जरार हुसैन प्रभारी अभीसूचना विंग, उप निरीक्षक देवेंद्र सिंह चौकी प्रभारी कुतुबशेर, उप निरीक्षक राधेश्याम चौकी प्रभारी मानक मऊ, उपनिरीक्षक पवन कुमार, उप निरीक्षक विजय कुमार, कांस्टेबल पंकज कुमार, प्रभात कुमार, शमीम अहमद और अंकुर कुमार का सहयोग रहा है। एसएसी ने टीम के सदस्यों को दस हजार का इनाम दिए जाने की बात कही है।

Ad Block is Banned