पड़ने लगी कड़ाके की ठंड अभी तक नहीं बटें स्वेटर, देखें वीडियो क्या बाेले बच्चे

Highlights

  • नवंबर माह खत्म होने को है और कड़ाके की ठंड शुरू हो गई है लेकिन अभी तक स्कूल में बच्चों को स्वेटर नहीं मिले हैं देखिए स्कूल में क्या बोले बच्चे

By: shivmani tyagi

Updated: 27 Nov 2019, 06:09 PM IST

सहारनपुर। नवंबर माह के महज तीन दिन शेष हैं लेकिन अभी तक सहारनपुर में बच्चों को स्वेटर नहीं बटें हैं। पिछले दिनों हमने सहारनपुर से सटे गांव रामनगर में पड़ताल की थी और वहां बच्चों ने बताया था कि सुबह 9:00 बजे स्कूल पहुंचना होता है, ऐसे में उन्हें ठंड लगती है लेकिन अभी तक स्वेटर नहीं बटे।

जिलाधिकारी ने संविधान की 70वीं वर्षगांठ पर ऐसे दिलाई शपथ

अब मंगलवार काे हम रामपुर मनिहारान क्षेत्र के गांव सावत खेड़ी पहुंचे तो यहां अलग ही नजारा देखने को मिला। स्कूल में एक भी बच्चे के पास स्वेटर नहीं था। बच्चों ने कहा कि सुबह 9:00 बजे स्कूल आना होता है, ठंड लगती है लेकिन अभी तक उन्हें स्वेटर नहीं मिले हैं। जब हमने इस बारे में स्कूल में मौजूद अध्यापक से बात की तो उन्होंने कहा कि अभी तक उनके पास स्वेटर के बारे में कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने यह भी बताया कि दो बार वह खुद संबंधित कार्यालय को लिखित में डिमांड भेज चुके हैं लेकिन स्वेटर कब मिलेंगे और बच्चों को स्वेटर कब बटेंगे इसके बारे में अभी तक उनके पास कोई जानकारी नहीं।

रेल यात्रियों के लिए अच्छी खबर एक साल से बंद यह महत्वपूर्ण ट्रेन आज से लाैट रही पटरी पर

इससे भी हैरान कर देने वाली बात यह थी कि इस स्कूल में 60 छात्र-छात्राएं पढ़ते हैं लेकिन यहां केवल एक शिक्षामित्र ही मोके पर मौजूद मिली। यानी अध्यापक के नाम पर सिर्फ यहां एक शिक्षामित्र ही थी। पूछने पर उन्होंने बताया कि जो स्कूल के हेडमास्टर हैं उन्होंने दो महीने पहले इस्तीफा दे दिया है। जो सहायक अध्यापक हैं वह पिछले 2 महीने से मेटरनिटी लीव पर चल रही हैं और जो तीसरे शिक्षामित्र हैं उनकी तबीयत खराब थी जो अचानक से दवा लेने के लिए चले गए।

तबियत वाकई खराब थी या कुछ और बात थी यह तो जांच का विषय है लेकिन धरातल पर जब हम स्कूल पहुंचे तो वहां हमें केवल एक शिक्षामित्र मिली। अकेली शिक्षामित्र कक्षा एक से पांच तक के सभी बच्चों को एक ही क्लास रूम में बैठाकर पढ़ा रही थी इन बच्चों का भविष्य क्या होगा और यहां कैसे केवल एक शिक्षामित्र कक्षा एक से कक्षा पांच तक के बच्चों को पढ़ाती होंगी ? इसका अंदाजा ताे आप ही लगा लीजिए ।

आखिर कब बटेंगे स्वेटर ?

सहारनपुर में बरसात के बाद ठंड बढ़ गई है दिन में भी गर्म कपड़ों की आवश्यकता पड़ रही है लेकिन अभी तक उन बच्चों को स्वेटर नहीं बटें हैं। यह बच्चे प्राथमिक विद्यालय में पढ़ते हैं और सुबह 9:00 बजे उन्हें स्कूल पहुंचना होता है। सुबह के समय यह बच्चे ठंड में कैसे स्कूल पहुंचते होंगे इसका अंदाजा भी आप ही लगा लीजिए लेकिन अभी तक जो पड़ताल हमने की और उसमें जो सामने आया वह यही है कि अभी तक बच्चों को स्वेटर नहीं बटें। इस बारे में जब हमने बेसिक शिक्षा अधिकारी रमेंद्र सिंह से बात की ताे उन्हाेंने बताया कि 95 प्रतिशत बच्चों काे स्वेटर बंट गए हैं महज पांच प्रतिशत स्कूलों में ही स्वेटर बंटने बाकी हैं जाे गुरुवार तक बांट दिए जाएंगे। पिछली बार जब हमने बेसिक शिक्षा अधिकारी से बात की थी तो उन्होंने कहा था कि 29 नवंबर स्वेटर बटनें की अंतिम तारीख है लेकिन हम उससे पहले ही सभी स्कूलों में स्वेटर बांट देंगे। अब हम अगली पड़ताल पर 29 नवंबर के बाद ही निकलेंगे और जानेंगे कि क्या 29 नवंबर तक भी बच्चों काे स्वेटर मिले ?

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned