जानिए क्यों, छात्र ने सीएम और पीएम को दी सुप्रीम कोर्ट में आत्महत्या करने की धमकी 

जानिए क्यों, छात्र ने सीएम और पीएम को दी सुप्रीम कोर्ट में आत्महत्या करने की धमकी 

एक इंस्टीट्यूट में पढ़ने वाले सहारनपुर के छात्र ने आत्महत्या करने की धमकी दी है

सहारनपुर। ग्रेटर नाेएडा के एक बड़े इंस्टीट्यूट में पढ़ने वाले सहारनपुर के छात्र ने आत्महत्या करने की धमकी दी है। छात्र ने इंस्टीट्यूट मैनेजमेंट पर उत्पीड़न का आराेप लगाते हुए कहा है कि, वह देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम काेर्ट के परिसर में माैत काे गले लगा लेगा। छात्र की इस घाेषणा के बाद सहारनपुर से लखनऊ आैर नाेएडा तक हलचल मच गई है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश सिंह यादव के कार्यालय से डीएम सहारनपुर काे भेजे गए एक दस्ती आर्डर में इस मामले काे बेहद गंभीरता से लिए जाने के निर्देश दिए गए हैं। इन निर्देशाें के बाद जिले की खुफिया एजेंसियाें काे भी अलर्ट हाे गई हैं जिन्हाेंने काफी देर तक छात्र से बात भी की है। 

मूल रूप से गंगोह के मध्यम वर्गीय परिवार में जन्मे युवक प्रिंस गर्ग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश सिंह यादव काे लिखे एक पत्र में कहा है कि, नाेएडा के एक इंस्टीट्यूट का प्रबंधन तंत्र उसका उत्पीड़न कर रहा है। वह अपने उत्पीड़न से इतना परेशान हाे चुका है कि, अब माैत काे गले लगाने का निर्णय किया है। यह भी कहा है कि, यदि 31 दिसंबर तक भी उसकी समस्याआें का समाधान नहीं हुआ ताे देश की शीर्ष अदालत सुप्रीम काेर्ट के परिसर में आत्महत्या कर लेगा। चुनाव नजदीक हैं आैर एेसे में यूपी के इस छात्र ने जाे पत्र प्रधानमंत्री आैर मुख्यमंत्री काे लिखा है। उससे खलबली मच गई है। फिलहाल सहारनपुर जिलाधिकारी काे निर्देश दिए गए हैं कि मामले काे गंभीरता से लिया जाए। सहारनपुर की सरकारी खुफिया एजेंसियाें काे अलर्ट कर दिया गया है। एजेंसियाें की रिपाेर्ट के मुताबिक, मूल रूप से गंगाेह निवासी यह छात्र आैर इसका परिवार अब उत्तराखंड के कनखल में निवास करता है। प्रशासन छात्र के संपर्क में हैं आैर उसकी समस्या का समाधान कराए जानें के प्रयास किए जा रहे हैं। 

आप भी जानिए छात्र की आपबीती 

छात्र प्रिंस के मुताबिक, उसने ग्रेटर नाेएडा के एक प्राईवेट इंस्टीट्यूट में वर्ष 2007 में बीटेक में एडमिशन लिया था। इसके लिए तीन लाख से अधिक रकम जमा कराई थी। छात्र का आराेप है कि, परीक्षा में इस्टीट्यूट ने उसे गलत प्रश्न पत्र दिया आैर उसके भविष्य के साथ खिलवाड़ किया। इतना ही नहीं छात्र ने यह भी आराेप लगाए हैं कि उसके नंबराें के साथ भी छेड़छाड़ की गई। विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर गलत जानकारी दी गई आैर छात्रवृत्ति के लिए भी पैसा मांगा गया। छात्र ने सिर्फ इंस्टीट्यूट पर ही आराेप नहीं लगाए यूपी पुलिस काे भी आराेपाें के कठघरे में खड़ा करते हुए लिखा है कि, उस पर दाे बार जानलेवा हमले हुए लेकिन किसी भी थाने में उसकी एफआईआर तक दर्ज नहीं की गई। छात्र के मुताबिक इसके बाद विश्वविद्यालय आैर प्रदेश सरकार ने भी उसकी शिकायताें पर काेई कार्रवाई नहीं की। वह पिछले कई वर्षाें से विभागाें आैर अफसराें के चक्कर लगा रहा है, लेकिन उसकी कहीं भी काेई सुनवाई नहीं हाे रही। 

छात्र ने लिखा भ्रष्टाचार आैर न्याय व्यवस्था से हूं आहत

छात्र ने प्रधानमंत्री आैर मुख्यमंत्री काे लिखे पत्र में यह भी कहा है कि वह देश में फैले भ्रष्टाचार आैर न्याय प्रणाली से आहत है। यही कारण है कि, उसने आत्महत्या करने का निर्णय किया है। छात्र के पत्र पर पीएमआे आैर मुख्यमंत्री कार्यालय से सहारनपुर एसएसपी आैर डीएम काे भेजे गए निर्देशाें में प्रकरण काे गंभीरता लेने के निर्देश दिए गए हैं।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned