UP Budget 2020 : सहारनपुर सांसद ने बजट काे बताया कागजी ताे कैराना सांसद बाेले विपक्ष कभी अच्छे काम की सराहना नहीं करता

Highlights

  • सहारनपुर सांसद फजलुर्रहमान ने कहा 500 रुपये में क्या करेंगी तलाक पीड़िता
  • कैराना सांसद प्रदीप चाैधरी बाेले विपक्ष काे ताे हंगामा करना ही है बजट अच्छा है

Saharanpur सहारनपुर। UP Budget 2020 काे लेकर पक्ष और विपक्ष आमने-सामने हैं। पक्ष बजट काे अच्छा बता रहा है ताे विपक्ष ने बजट की मुखालफत की है।

सहारनपुर सांसद हाजी फजलुर्रहमान ने कहा है कि ( UP Budget 2020-21 ) बजट में महिलाओं पर कोई ध्यान नहीं दिया गया है। budget बजट समझ से परे है। सरकार ने तीन तलाक पीड़ित महिलाओं को मदद करने की बात कहकर महज 500 रुपये देने की बात कही है। सवाल यह है कि 500 रुपये में तलाक पीड़िता क्या करेगी ? अपना घर चलाएगी या अपने बच्चों काे पढ़ाएगी।

बसपा से सांसद हाजी फजलुर्रहमान ने यह भी कहा कि, महिलाओं के लिए अगर सरकार को काम करना है तो तीन तलाक पीड़िताओं की अलग से आईडी कार्ड बनने चाहिए। इस आईडी कार्ड के आधार पर उनके बच्चों के लिए स्कूलों में फ्री सुविधा हाेनी चाहिए। किसानों के लिए योजनाएं चलाने से अच्छा है कि उन्हें समय पर गन्ना भुगतान दिलाया जाए। किसानों को उनकी फसल का समय से भुगतान मिले। आज किसान परेशान है। क्राइम बढ़ता जा रहा है। किसानों काे धरने देने पड़ रहे हैं। ऐसे में बजट कही से भी राहत देने वाला नहीं लगता। सांसद ने साफ कहा कि, बजट प्रैक्टिकल नहीं है बल्कि कागजी है।

कैराना सांसद प्रदीप चाैधरी का कहना है कि, बजट बेहद अच्छा है। सभी वर्गों काे ध्यान रखा गया है। बजट अच्छा है लेकिन विपक्ष काे हंगामा करना ही है। बजट में किसान, महिला, युवा, राेजगार, व्यापार सभी का ध्यान रखया गया है। विपक्ष कभी अच्छे कार्य की सराहना नहीं करता है। आप चाहे जितना अच्छा कर लीजिए विपक्ष ताे विराेध करना ही है। भाजपा से सांसद प्रदीप चाैधरी ने यह भी कहा कि भाजपा पार्टी सभी काे साथ लेकर चलती है सबका-साथ सबका-विकास के आधार पर ही बजट तैयार किया गया है।

shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned