बिहार पुलिस की करतूत, मुखिया पति के साथ तीन युवकों को बेरहमी से पीटा

(Bihar News ) बिहार की पुलिस (Infamious Bihar police ) राजनीतिक-अपराधियों से गठजोड़ करने के लिए तो बदनाम है ही, साथ आम लोगों के साथ भी ज्यादतियों के भी (Police atrocities on people ) करने में भी पीछे नहीं है। बिहार पुलिस का कोई न कोई कारनामा सामने आता रहता है। अब नया मामला है कि पुलिस द्वारा तीन युवकों की थाने में बेरहमी से पिटाई (Police beaten 3 youth ) का। पिटाई से सभी आरोपितों की स्थिति नाजुक बनी हुई है।

By: Yogendra Yogi

Published: 29 Aug 2020, 11:31 PM IST

समस्तीपुर(बिहार): (Bihar News ) बिहार की पुलिस (Infamious Bihar police ) राजनीतिक-अपराधियों से गठजोड़ करने के लिए तो बदनाम है ही, साथ आम लोगों के साथ भी ज्यादतियों के भी (Police atrocities on people ) करने में भी पीछे नहीं है। बिहार पुलिस का कोई न कोई कारनामा सामने आता रहता है। अब नया मामला है कि पुलिस द्वारा तीन युवकों की थाने में बेरहमी से पिटाई (Police beaten 3 youth ) का। पुलिस की इस कारगुजारी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। इससे पुलिस विभाग के अफसरों की खूब फजीहत हो रही है। इस मामले की अब जांच कराई जा रही है।

छेडख़ानी का आरोप
घटना को लेकर बताया जा रहा है कि बतरडीहा गांव के किसी लड़की के साथ छेडख़ानी हुई थी। छेडख़ानी का आरोप राहुल, सुमित और ललित पर लगाया गया। इसके बाद मुखिया पति ने तीनों लड़कों को अपने घर पर बुलाया और पुलिस को सूचना दी। इसके बाद पुलिस बल के आते ही मुखिया पति कैलाश राय और उसके सहयोगी ने आरोपितों की पिटाई शुरू कर दी।

पुलिस ने मुखिया पति के साथ पीटा
पुलिस बल के आते ही मुखिया पति कैलाश राय और उसके सहयोगी ने आरोपियों की पिटाई शुरू कर दी। वहीं मौके पर पहुंचे एसआई अवधेश सिंह ने मामले को समझने और कानूनी कारज़्वाई करने के बदले उन्होंने भी डंडे से आरोपियों की बेरहमी से पिटाई शुरू कर दी। पुलिस और जनप्रतिनिधि के इस तालिबानी कारज़्वाई से लोगों में आक्रोश है ।

पिटाई की हो रही है जांच
पिटाई से सभी आरोपितों की स्थिति नाजुक बनी हुई है। तीनों घायल लड़कों का इलाज निजी नर्सिंग होम में चल रहा है। वहीं वायरल वीडियो को लेकर एसपी विकास बर्मन का कहना है कि इस बारे में उन्हें जानकारी मिली है। जानकारी के मुताबिक किसी गांव में कुछ लड़कों ने छेडख़ानी की थी, जिसके बाद गांव के लोग पूरे मामले को मॉब बनाने की कोशिश कर रहे थे। इसकी जानकारी मिलते ही स्थानीय मुखिया और पुलिस मौके पर पहुंची, जिसके बाद पिटाई की गई थी। किस परिस्थिति में पुलिस ने लड़कों को बांध कर पीटा है इसकी जांच रोसड़ा के डीएसपी कर रहे हैं।

Show More
Yogendra Yogi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned