सीटों के बंटवारे को लेकर कांग्रेस और आरजेडी में रार, कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी में होगा निर्णय

(Bihar News ) बिहार विधान सभा (Bihar assembly election ) चुनाव में सीटों के बंटवारे को लेकर लालू यादव की पाटी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) और कांग्रेस (Seat sharing dispute in Congress and RJD ) आमने-सामने हो गए हैं। आरजेडी के 58 सीट के ऑफर से कांग्रेस खफा है। दरअसल कांग्रेस 80 से अधिक सीटों पर चुनाव लडऩे का दावा कर रही है जोकि गठबंधन की राह में सबसे बड़ी बाधा बना हुआ है। आरजेडी इतनी सीटें कांग्रेस को देने को तैयार नहीं है।

By: Yogendra Yogi

Updated: 29 Sep 2020, 08:08 PM IST

समस्तीपुर(बिहार): (Bihar News ) बिहार विधान सभा (Bihar assembly election ) चुनाव में सीटों के बंटवारे को लेकर लालू यादव की पाटी राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) और कांग्रेस (Seat sharing dispute in Congress and RJD ) आमने-सामने हो गए हैं। दोनों दलों के बीच सीटों के (Congress screening committee) वितरण का मामला ओर पेचीदा होता जा रहा है।

कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक

इस बीच बिहार बिहार प्रदेश अध्यक्ष मदनमोहन झा और विधानमंडल दल के नेता सदानंद सिंह को आलाकमान ने बुधवार को दिल्ली बुलाया गया है जहां वे अपराह्न तीन बजे कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में शामिल होंगे। उधर आरजेडी सीट के बंटवारे को लेकर टस से मस होने का नाम नहीं ले रही है। इससे इस गठबंधन में दरार आने की संभावना नजर आ रही है। आरजेडी कांग्रेस को हठधर्मिता छोड़ की बात कह कर परोक्ष रूप से अल्टीमेटम दे दिया है। उधर कांग्रेस नई संभावनाओं को भी तलाश रही है। वैसे कांग्र्रेस के पास गठबंधन के ज्यादा विकल्प खुले हुए नहीं है।

कांग्रेस का 80 सीटों का दावा
दरअसल कांग्रेस 80 से अधिक सीटों पर चुनाव लडऩे का दावा कर रही है जोकि गठबंधन की राह में सबसे बड़ी बाधा बना हुआ है। आरजेडी इतनी सीटें कांग्रेस को देने को तैयार नहीं है। आरजेडी के 58 सीट के ऑफर से कांग्रेस खफा है। आरजेडी के राज्य सभा सांसद मनोज झा ने कहा है कि कांग्रेस को हठधर्मिता छोडऩी चाहिए। मनोज झा ने कहा कि 1 अक्टूबर को पहले चरण के चुनाव के लिए नोटिफिकेशन होगा ऐसे में अब तक स्वरूप साफ़ हो जाना चाहिए था।

कांग्रेस हठधर्मिता छोड़े

उन्होंने कांग्रेस से हठधर्मिता छोडऩे को कहा। आरजेडी सांसद ने कहा कि इस चुनाव के मिज़ाज को समझिए, यह संख्या परिपूर्ण है जो कांग्रेस को दी जा रही है। हमने अपनी सीटों की संख्या कम की है। लेकिन, कांग्रेस की हठधर्मिता से कहीं नुक़सान न हो जाए। इससे कांग्रेस को जल्द फ़ैसला लेना चाहिए। जितना दिया जा रहा है वो आंकड़ा परिपूर्ण है। हम बाक़ी दलों से बड़े होने के बावजूद अपनी सीटों से समझौता कर रहे हैं।

आजेडी की पेशकश सम्मानजनक नहीं

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा ने इस बीच गठबंधन को लेकर कहा है कि कांग्रेस को अगर सम्मानजनक सीटें मिलती हैं तभी वो आरजेडी के साथ चुनाव लडऩे को राजी होगी कार्यकताओं की भावनाओं का सम्मान हमारे लिए जरूरी है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने साफ कर दिया है कि हमें सम्मानजनक समझौता चाहिए। वही, दूसरी ओर कांग्रेस के राज्यसभा सांसद अखिलेश प्रसाद सिंह ने कहा कि 58 सीटों पर आरजेडी की सहमति की बात को सिरे से खारिज किया।

कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी में होगा फैसला
उन्होंने कहा कि अभी आलाकमान से बातचीत चल रही है। जल्द ही निर्णय ले लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि एक निश्चित संख्या पर बातचीत पहुंच चुकी है. आज तक बात तय हो जाएगी। इस मामले पर आरजेडी ने कहा कि शीर्ष नेतृत्व जो तय करेगा, वह जल्द ही सामने आ जाएगा। गौरतलब है कि पिछले विधानसभा चुनाव में आरजेडी-जेडीयू-कांग्रेस गठबंधन में कांग्रेस को 41 सीटें दी गई थीं जिसमें से 27 सीटें कांग्रेस जीती थी।

Show More
Yogendra Yogi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned