70 दिव्यांग बालक-बालिकाओं के पालनहार हैं ये केंद्रीय मंत्री

(Bihar News ) मंत्री पद के साथ समाज सेवा (Social service ) में एक सुनहरी अध्याय (Goldent chapter ) जोड़ते हुए केंद्रीय गृह राज्यमंत्री (Central minister ) नित्यानंद राय (Nityanand Roy ) ने एक और दिव्यांग बच्चे (disabled boys and girls) सहित कुल 70 बच्चों को गोद लेकर नकारात्मक बनी उस धारणा को तोड़ा है कि जनप्रतिनिधि अपनी तरफ से कुछ नहीं करते।

By: Yogendra Yogi

Published: 20 Sep 2020, 05:39 PM IST

समस्तीपुर(बिहार): (Bihar News ) मंत्री पद के साथ समाज सेवा (Social service ) में एक सुनहरी अध्याय (Goldent chapter ) जोड़ते हुए केंद्रीय गृह राज्यमंत्री (Central minister ) नित्यानंद राय (Nityanand Rai ) ने एक और दिव्यांग बच्चे (disabled boys and girls) सहित कुल 70 बच्चों को गोद लेकर नकारात्मक बनी उस धारणा को तोड़ा है कि जनप्रतिनिधि अपनी तरफ से कुछ नहीं करते।

आदर्श पेश किया

केंद्रीय गृहमंत्री ने इन सत्तर बच्चों की जिम्मेदारी लेकर अन्य जनप्रतिनिधयों के सामने भी एक आदर्श पेश किया है। गोद लेने के साथ ही बालक का जीवन संवारने का संकल्प लिया है। इससे पहले वे 69 बच्चों को गोद लेकर उसका सभी खर्च वहन कर रहे हैं।

पीएम के जन्मदिन पर गोद लिया 70 वां बच्चा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उपलक्ष्य में 70 वें जन्मदिन पर यह 70 वां बच्चा गोद लिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उनहत्तरवें जन्मदिन पर उनहत्तर विकलांग बालक बालिकाओं को उन्होंने गोद लिया गया था। सभी की शिक्षा दीक्षा एवं इलाज का खर्च वे वहन कर रहे हैं। जिन दिव्यांग बालिकाओं को उन्होंने गोद लिया है उसकी पढ़ाई लिखाई के अलावा शादी भी वे अपने खर्च से ही कराएंगे।

7 वर्षीय गणेश दिव्यांग है
प्रधानमंत्री के सत्तरवें जन्मदिन पर सत्तरवें दिव्यांग बालक मोरवा प्रखंड के गणेश कुमार पासवान को गोद लिया गया है। गोद लिया वह मोरवा प्रखंड के वनवीरा पंचायत के सुनील कुमार पासवान व जया पासवान का सबसे छोटा पुत्र गणेश कुमार (7) है। इसके लिए हलई स्थित केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के कायाज़्लय व आवास में आयोजित कार्यक्रम में भाजपा के जिला अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा ने मंत्री नित्यानंद राय का संदेश पढ़कर सुनाया।

Show More
Yogendra Yogi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned