पंजाब में आम आदमी पार्टी ने दूसरे लोकसभा चुनाव में खो दी चमक

संगरूर के अलावा आम आदमी पार्टी प्रत्याशी अन्य दलों के प्रत्याशियों के वोट काटते नजर आ रहे है...

By: Prateek

Published: 21 May 2019, 04:05 PM IST

(चंडीगढ,संगरूर): पंजाब में आम आदमी पार्टी के लिए यह दूसरा लोकसभा चुनाव था लेकिन पार्टी ने दूसरी बार में ही चमक खो दी। वर्ष 2014 में पार्टी ने पंजाब में पहला लोकसभा चुनाव लडा था तब जमकर समर्थन मिलता दिखाई दिया था। एनआरआई पंजाबी भी समर्थन और सहयोग लुटा रहे थे। पहले लोकसभा चुनाव में मोदी लहर के बावजूद आम आदमी पार्टी ने लोकसभा की चार सीटें जीत ली थी। लेकिन इस बार मात्र एक सीट ही जीत पाने के आसार है। हालांकि पार्टी पंजाब की सभी 13 लोकसभा सीटों पर चुनाव लड़ रही है। लेकिन इनमें से मात्र संगरूर सीट पर पार्टी प्रत्याशी और मौजूदा सांसद भगवन्त मान की स्थिति मजबूत मानी जा रही है। भगवन्त मान पार्टी के प्रदेश प्रमुख भी है। भगवन्त मान की सभाओं में लोगों की मौजूदगी अच्छी संख्या में रही है। यदि यह संख्या वोटों में बदलती है तो उनके जीतने के आसार है। बाकी 12 सीटों पर प्रत्याशी लोगों का समर्थन जुटाने में नाकाम रहे है। पार्टी प्रमुख अरविन्द केजरीवाल भी पंजाब में चुनाव प्रचार के दौरान अच्छी संख्या में लोगों को आकर्षित नहीं कर सके।

 

संगरूर के अलावा आम आदमी पार्टी प्रत्याशी अन्य दलों के प्रत्याशियों के वोट काटते नजर आ रहे है। गुरदासपुर लोकसभा सीट पर जहां भाजपा प्रत्याशी फिल्म अभिनेता सन्नी देओल और पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष व मौजूदा सांसद सुनील जाखड के बीच मुकाबला है वहीं आम आदमी पार्टी प्रत्याशी पीटर मसीह ग्रामीण और ईसाई वोटों में सेंध लगा रहे है। भटिंडा में आम आदमी पार्टी प्रत्याशी डॉ बलजिंदर कौर और पंजाब डेमोक्रेटिक एलायंस प्रत्याशी सुखपाल खैहरा अकाली दल प्रत्याशी हरशिमरत कौर बादल व कांग्रेस प्रत्याशी अमरिंदर सिंह राजावडिंग के वोट बैंक में सेंध लगा रहे है। होशियारपुर, लुधियाना, आनन्दपुर साहिब और पटियाला सीटों पर आम आदमी पार्टी प्रत्याशी या इसके बागी इसी तरह वोटों में सेंध लगा रहे है।

Arvind Kejriwal
Show More
Prateek Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned