कारीगरों ने सांसद शरद त्रिपाठी के खिलाफ खोला मोर्चा, लगाया यह गंभीर आरोप

कारीगरों ने सांसद शरद त्रिपाठी के खिलाफ खोला मोर्चा, लगाया यह गंभीर आरोप
Sharad Tripathi

सांसद का प्रतीकात्मक शव यात्रा निकाला, आंदोलन जारी रखने की चेतावनी 

संत कबीर नगर. पीतल बर्तन कारीगरों ने स्थानीय सांसद शरद त्रिपाठी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। कारीगरों ने बर्तन उद्योग के लिए केंद्र सरकार की चलाई जा रही क्लस्टर योजना में भाजपा सांसद शरद त्रिपाठी की दखलअंदाजी का विरोध किया है। कारीगरों ने रिश्तेदार को क्लस्टर योजना में मैनेजर बनाये जाने के खिलाफ सांसद शरद त्रिपाठी का प्रतीकात्मक शव यात्रा निकाला और सांसद के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।


बता दें कि जिले का बखिरा कस्बा फूल और पीतल के बर्तनों के लिए काफी प्रसिद्द रहा है। बड़े पैमाने पर यहां के कारीगर बर्तन बनाने का कारोबार करते हैं, लेकिन कुछ वर्षों से सरकार की उपेक्षा से यह फलता फूलता कारोबार दम तोड़ चुका हैं। बखिरा के कारीगर वर्षों से सरकार से इस कारोबार को चलाने के लिए आर्थिक व तकनीकी मदद मांगते रहे।


यह भी पढ़ें:
सीएम योगी ने कहा नई तकनीक से किसानों की आय करेंगे दोगुनी


केंद्र में बीजेपी की सरकार बनने पर स्थानीय भाजपा सांसद शरद त्रिपाठी की पहल और कारीगरों की मांग पर मंत्री स्मृति ईरानी ने पीतल और फूल के बर्तन बनाने के इस कारोबार को फिर से जिन्दा करने के लिए क्लस्टर योजना की घोषणा की और विशेष आर्थिक मदद देने का एलान किया। सांसद का विरोध कर रहे कारीगरों का आरोप है कि सांसद ने अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर अपने एक रिश्तेदार को संस्था का अध्यक्ष बनावा दिया जिसको बर्तन व्यवसाय और व्यवसाइयों की समस्यायों की कोई जानकारी नही है।


कारीगरों का आरोप है कि क्लस्टर योजना के जरिये मिलने वाली धनराशि का सांसद बंदरबांट करना चाह रहे है। कारीगरों ने प्रबंधक को हटाने की मांग करते हुये कहा कि जब तक उनकी मांग नही मानी जाती सांसद के खिलाफ उनका आंदोलन जारी रहेगा।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned