अधर में लटकी है पेयजल परियोजना, सरकार से नहीं मिला फंड

अधर में लटकी है पेयजल परियोजना, सरकार से नहीं मिला फंड
Drinking water

अप्रैल 2015 में कुल 42 गांव में पानी पहुंचाने का तैयार हुआ था खाका

संत कबीर नगर. इंसेफेलाइटिस प्रभावित जिले के 42 गांवों में पाइप लाइन से साफ पानी पहुंचाने की योजना अधर में है। इन गांवों में पानी पहुंचाने के लिए अप्रैल, मई, जून व जुलाई-2015 में कुल 42 परियोजनाओं का खाका तैयार किया गया था। इसके लिए 79.26 करोड़ रुपये की जरूरत थी लेकिन शासन से सिर्फ 25.35 करोड़ रुपये ही मिले। इसमें से सिर्फ चार गांव में 90 फीसदी, दो में 85 फीसदी, तीन में 80 फीसदी काम हुआ है। दो गांव ऐसे हैं जहां पर काम ही नहीं शुरू हुआ। अप्रैल 2015 से इन परियोजनाओं पर काम शुरू हुआ था। जून 2017 में ये काम पूरा हो जाना चाहिए था लेकिन धन न मिलने के कारण इनमें से कोई भी कार्य पूरा नहीं हो पाया।


यह भी पढ़ें:

यूपी की स्वास्थ्य व्यवस्था का हाल, जिला अस्पताल में टार्च की रोशनी में होता है मरीजों का इलाज

इन गांवों के लिए बनी है योजना

सेमरियावां के बाघनगर, हैंसर के रामपुर उत्तरी, बालमपुर, घोरांग, ददरवार, सेमरडांड़ी, बेलौरा, गाईबसंतपुर, नटवाबर, अशरफपुर व गोपीपुर, मेहदावल के जमोहरा, बुढ़ाननगर, सांसद शरद त्रिपाठी का गोद लिया गांव सांड़ेखुर्द, सांथा का बौरव्यास, बनेथू, पसाई, हरैया, बरगदवां, झुड़ियां, साड़ेकलां व लोहरसन,खलीलाबाद के देवरियागंगा, जंगलऊन बलुउरा, नेहियाखुर्द, गौसपुर, पूर्व सांसद भालचंद यादव के गांव भगता, मीरगंज, डीघा, विश्वनाथपुर, तामा (तामेश्वरनाथ) व कोनी, नाथनगर के गिठनी, ¨झगुरापार, टिकुईकोलबाबू, लखनोहर, अलीनगर, नाथनगर, मुखलिसपुर, महुली, परसा उर्फ फिदाई, गालिमपुर आदि 42 गांवों में पाइपलाइन के जरिये घर-घर साफ पानी पहुंचाया जाना है।


धन मिले तो 100 दिन में पूरा हो जाएगा कार्य
जल निगम का दावा है कि यदि उसे 9.69 करोड़ रुपये मिल जाए तो वह इससे सांथा के बौरव्यास, हैंसर के घोरांग, खलीलाबाद के देवरियागंगा, जंगलऊन बलुउरा, सांथा के बनेथू, हैंसर के ददरवार, खलीलाबाद के नेहिया खुर्द तथा मेहदावल ब्लाक के बुढ़ाननगर आदि आठ ग्राम पंचायतों में 100 दिन में पाइपलाइन से घर-घर साफ पानी पहुंचाने का काम शुरू करा देगा । इन गांवों में लगभग 75 फीसदी कार्य पूरा कर लिया गया है।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned