घरों में अवैध शस्त्र रखे हैं 1082 लाइसेंसधारी

घरों में अवैध शस्त्र रखे हैं 1082 लाइसेंसधारी

Ramashankar Sharma | Publish: Apr, 17 2019 01:09:07 PM (IST) | Updated: Apr, 17 2019 01:09:08 PM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

लोकसभा चुनाव: 37 दिन बाद भी पुलिस-प्रशासन नहीं जमा करवा सका शस्त्र

सतना. लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लागू हुए एक माह से ज्यादा हो चुके हैं। डीएम धारा 144 के तहत जिले के सभी शस्त्र निलंबित कर चुके हैं। इसके बाद भी हालात यह हैं कि अभी तक जिले के सभी शस्त्रलाइसेंस धारकों के शस्त्र जमा नहीं करवाए जा सके हैं। जबकि निलंबित शस्त्र लाइसेंस के बाद शस्त्र रखना अवैधानिक है। ये सभी शस्त्र अवैध हथियार की श्रेणी में आते हैं। चौंकाने वाली जानकारी यह भी आई है कि कई शस्त्र लाइसेंसधारकों के पते तक सही तरीके से नहीं दर्ज हैं, जिससे पुलिस उन्हें तलाश भी नहीं पा रही है।सतना जिल में 300 के लगभग शस्त्र लाइसेंस नियम विरुद्ध हैं। ऐसे में इन लाइसेंस के तहत लिए गए शस्त्र भी अपने आपमें अनियमित माने जाएंगे। ऐसे में तो यहां प्राथमिकता से ऐसे शस्त्रों को जमा कराया जाना चाहिए। लेकिन पाया गया कि अभी तक फर्जीवाड़े की जांच में फंसे शस्त्र तक पूरी तरह जमा नहीं कराए जा सके हैं। हालांकि यह भी बताया जा रहा कि 300 के लगभग शस्त्र ऐसे हैं जो जिले से बाहर है और इनके शस्त्र धारक सुरक्षा व्यवस्था से जुड़ी नौकरी में है। लेकिन इनके द्वारा भी अभी तक शस्त्र छूट या जमा की पर्ची जिले में जमा नहीं की जा सकी है।

एसपी ने दी थी तीन दिन की मोहलत

विगत सप्ताह चुनाव आयोग की संभागीय समीक्षा बैठक में सागर मीटिंग के बाद पुलिस अधीक्षक रियाज इकबाल ने शस्त्र जमा न करने वाले शस्त्र लाइसेंस धारकों को चेताया था कि तीन दिन के अंदर सभी लोग अपने अपने शस्त्र निकटमत थाना क्षेत्र में जमा कर दें। तीन दिन बाद इन शस्त्र धारकों के पास से मिले शस्त्रों पर अवैध हथियार की कार्रवाई की जाएगी। लेकिन इसका भी खास असर होता नजर नहीं आ रहा है और 1082 शस्त्र जमा नहीं हो सके।

कलेक्टर ने लाइसेंस निरस्तगी की कही बात

जिला मजिस्ट्रेट सतेन्द्र सिंह ने बताया है कि अब जो भी शस्त्र जमा नहीं किए गए हैं उनके लाइसेंस निरस्त करने की कार्रवाई प्रारंभ की जा रही है। ऐसे लोगों को नोटिस जारी किए जाएंगे और इसके बाद लाइसेंस निरस्त किए जाएंगे।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned