script11 thousand students of Satna got UG-PG degree during Corona period | Satna के 11 हजार छात्रों को कोरोना काल में मिली यूजी-पीजी की डिग्री | Patrika News

Satna के 11 हजार छात्रों को कोरोना काल में मिली यूजी-पीजी की डिग्री

न क्लास ली और न किताब खोली, घर बैठे हो गए 'पोस्ट ग्रेजुएट

सतना

Updated: January 22, 2022 04:06:19 am

सतना. कोरोना महामारी ने अर्थ व्यवस्था के साथ शिक्षा व्यवस्था को भी चौपट कर दिया है। लगातार दो साल तक महाविद्यालयों के गेट छात्रों के लिए बंद रहे। कहने के लिए छात्रों की ऑनलाइन क्लास लगी। लेकिन, सतना में उच्च शिक्षा की जमीनी हकीकत यह रही कि 80 फीसदी छात्रों ने दो साल में न तो एक दिन कॉलेज जाकर क्लास अटैंड की और न ऑनलाइन पढ़ाई की। जिले में 11 हजार छात्र न कॉलेज गए और न किताब खोली, कोरोना महामारी ने उन्हें घर बैठे ही ग्रेजुएट एवं पोस्ट ग्रेजुएट की उपाधि दिला दी।
Collage student
Collage student
घर बैठे परीक्षा दी फिर भी फेल
कोरोना काल में कॉलेज बंद हुए तो छात्रों ने पढ़ाई से नाता तोड़ लिया। 24 घंटे घर में रहने के बाद भी 70 फीसदी छात्रों ने दो साल में सिर्फ एक दिन कॉपी लिखने के लिए किताब खोली। इस दौरान उच्च शिक्षा की गुणवत्ता में गिरावट का अनुमान इससे भी लगाया जा सकता है कि घर बैठे किताब खोलकर भी 5 फीसदी छात्र पांच सवालों के उत्तर नहीं लिख सके और वे फेल हो गए। जून 2021 में यूजी-पीजी की अंतिम परीक्षा देने वाले कुछ 5 फीसदी छात्र अनुत्तीर्ण हुए। इनमें यूजी के छात्रों का प्रतिशत सात तथा पीजी का 3 प्रतिशत रहा। जिले के 16 शासकीय कॉलेजों में अध्ययनरत यूजी-पीजी के 500 से अधिक छात्र घर बैठे परीक्षा देने के बाद भी पास नहीं हो सके।
बिना किताब हो गई पढ़ाई
वर्ष 2021 में यूजी-पीजी की डिग्री प्राप्त करने वाले छात्रों की पढ़ाई की गुणवत्ता का अनुमान इससे लगाया जा सकता है कि 50 फीसदी छात्रों ने किताब ही नहीं खरीदी। सारंगी बुक स्टाल के संचालक महेन्द्र गुप्ता ने बताया, कोरोना काल में स्नातक व स्नातकोत्तर की किताबों की बिक्री में 50 फीसदी की गिरावट आई है।
पढ़ाई के प्रति बढ़ी अरुचि
शिक्षा विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना काल में कॉलेज बंद हुए तो दो साल में युवाओं की रुचि पढ़ाई में कम हो गई। लगातार दो वर्ष तक ओपन बुक प्रणाली से परीक्षा छात्रों के लिए हानिकारक साबित हुई है। इससे छात्रों में अध्ययन एवं याद करने की क्षमता में गिरावट आई है। इसी का परिणाम है कि कोरोना महामारी का बहाना कर सतना ही नहीं प्रदेशभर के हजारों छात्र ऑफ लाइन परीक्षा का विरोध कर रहे हैं।
शिक्षा की गुणवत्ता गिरी
स्वशासी महाविद्यालय के पूर्व प्राचार्य डॉ. हर्षवर्धन श्रीवास्तव ने बताया दो साल तक कॉलेज न खुलने एवं ओपन बुक प्रणाली से परीक्षा के चलते उच्च शिक्षा की गुणवत्ता डाउन हुई है। इससे छात्रों में पढ़ाई एवं कॉम्पिटीशन के प्रति अरुचि बढ़ी है। लेकिन, अब परिस्थिति नियंत्रण में है। इसलिए छात्रों को फिर से पूरी ईमानदारी के साथ पढ़ाई में जुट जाना चाहिए। छात्रों को यह समझना होगा कि वर्तमान दौर में डिग्री दिखा देने से रोजगार नहीं मिलता। इसके लिए उन्हें तकनीकी शिक्षा में दक्ष होना होगा। जो छात्र ऑफलाइन परीक्षा का विरोध कर रहे हैं उन्हें यह समझना होगा कि शिक्षा वह धन है जो कठिन परिश्रम करके ही प्राप्त किया जा सकता है। बिना मेहनत के मिली डिग्री आपको रोजगार व नौकरी कभी नहीं दिला सकती।
हकीकत
16 शास. कॉलेज जिले में
8132 छात्र यूजी फाइनल में
570 छात्र अनुत्तीर्ण
7562 छात्र उत्तीर्ण
3258 छात्र पीजी फाइनल में
98 छात्र अनुत्तीर्ण
3160 छात्र उत्तीर्ण

स्वशासी महाविद्यालय रिजल्ट 2021
स्नातक अंतिम वर्ष
संकाय कुल छात्र अनुत्तीर्ण
बीएससी 1215 25
बीकाम 797 17
बीए 928 63
स्नातकोत्तर अंतिम वर्ष
संकाय कुल छात्र अनुत्तीर्ण
एमकॉम 416 13
एमएससी 187 6
एमए 647 36

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

सेना का 'मिनी डिफेंस एक्सपो' कोलकाता में 6 से 9 जुलाई के बीचGujrat कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का विवादित बयान, बोले- मंदिर की ईंटों पर कुत्ते करते हैं पेशाबRajya Sabha Election 2022: राजस्थान से मुस्लिम-आदिवासी नेता को उतार सकती है कांग्रेस'तुम्हारे कदम से मेरी आँखों में आँसू आ गए', सिंगला के खिलाफ भगवंत मान के एक्शन पर बोले केजरीवालसमलैंगिकता पर बोले CM नीतीश कुमार- 'लड़का-लड़का शादी कर लेंगे तो कोई पैदा कैसे होगा'Women's T20 Challenge: वेलोसिटी ने सुपरनोवास को 7 विकेट से हरायानवजोत सिंह सिद्धू को जेल में मिलेगा स्पेशल खाना, कोर्ट ने दी अनुमतिSSC घोटाले के बाद अब बंगाल में नर्सों की नियुक्ति में धांधली, विरोध प्रदर्शन के बीच पुलिस और स्टूडेंट्स में हुई झड़प
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.