14 साल जेल में शिक्षा की अलख जगाकर जब रिहा हुआ कैदी...

14 साल जेल में शिक्षा की अलख जगाकर जब रिहा हुआ कैदी...

गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य पर केन्द्रीय जेल सतना से 16 कैदी किए गए रिहा


सतना।
केन्द्रीय जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहा कैदी अभयराज पुत्र लक्षमण प्रसाद लोधी वैसे तो पेशे से शिक्षक था। लेकिन दुर्भाग्य से उसके हाथों से गुनाह हुआ और उसे सजा पड़ गई। लेकिन पश्चाताप की अग्नि में जलते हुए अभयराज ने जेल में ही कैदियों को शिक्षा देना शुरु कर दिया। उसने 14 साल की कैद में करीब 250 कैदियों को अपना ज्ञान बांट चुका है। जिनमें से कई रिहा होकर रोजगार में लगे हुए है। अब उसे खुद अपने अच्छे आचरण व कार्यों के कारण आजीवन कारावास की 6 वर्ष की सजा माफकर शासन ने रिहा कर दिया।

कार्यक्रम में यह हुए शामिल

न्यायालय द्वारा दंडित केन्द्रीय जेल सतना में सजा काट रहे 16 कैदियों को 26 जनवरी को रिहा कर दिया गया। बताया गया कि मप्र जेल विभाग द्वारा रिहाई सूची क्रमांक 2091/22.01.2016 के अनुसार सजा समाप्ति के बाद विभाग द्वारा रिहाई के आदेश दिए गए थे। इसके लिए सतना केन्द्रीय जेल में पहले से ही तैयारियां कर ली गई थी। 26 जनवरी को दोपहर 2 बजे जेल से रिहा हो रहे कैदियों के लिए सामूहिक कार्यक्रम आयोजित किया। जिसमें मुख्य अतिथि कलेक्टर संतोष मिश्रा, अध्यक्षता महापौर ममता पाण्डेय, विशिष्ट अतिथि सतना पुलिस अधीक्षक मिथलेश शुक्ला सहित रघुराजनगर एसडीएम रमेश सिंह, तहसीलदार महेन्द्र पटेल, जेल अधीक्षक शैफाली राजेश आदि मौजूद रही।

अपनों को पाकर खिले कैदियों के चेहरे

केन्द्रीय जेल में 16 कैदियों को जैसे ही गेट के बाहर लाया गया। कैदियों और उनके अपने जो बाहर इंतजार कर रहे थे। एक दूसरे का चहरा देख कर भावुक हो उठे। जैसे ही जेल प्रशासन ने अपनी प्रक्रिया पूरी की कैदियों के परिजन कोई गले मिलकर खुशी व्यक्त की। तो किसी ने पैर छु कर एक दूसरे का स्वागत किए।

जेल में बाल आरक्षक रहा आकर्षण का केन्द्र
jail 3
जेल प्रबंधन ने गणतंत्र दिवस पर एक बाल आरक्षक को सूट-बूट से तैयारकर रखा था। जो 26 जनवरी के दिन आकर्षण का का केन्द्र रहा है। बताया गया कि जेल प्रबंधन द्वारा 2 वर्ष के आरक्षक को तैयार कर पुलिस परेड ग्राउंड ले जाया गया था। जिसको देखकर सभी की नहरें ही नहीं हट रही थी।

ये कैदी रिहा
जेल प्रशासन ने बताया कि सतना केन्द्रीय जेल से गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में 16 कैदी रिहा किए है। जिसमें सुभेष कुमार पिता रामप्यारे अग्रिहोत्री निवासी कर्रा थाना रामपुर बाघेलान, कामता पिता मोतीलाल कुशवाहा बरही थाना मैहर, महेन्द्र राव पिता इंदर निवासी अहिल्या पल्टन इन्दौर, मुखराम पिता नारायण शुक्ला निवासी गहबरा थाना गौरिहार जिला छतरपुर, बब्बू प्रसाद पिता छकौड़ीलाल कोल निवासी कोटवार थाना पनवार जिला रीवा, रामनरेश पिता परसादी काछी निवासी डिहुटा थाना कोठी, कुलपति सिंह पिता रामश्राय सिंह गोंड निवासी लोटनी थाना मझगवां, छुट्टू पिता गिल्ला शुक्ला निवासी बंसिया थाना छतरपुर, महेन्द्र पिता रामविसाल अग्रिहोत्री निवासी बंसिया थाना छतरपुर, रामशरण पिता कल्लू अग्रिहोत्री निवासी बंसिया थाना छतरपुर, अभयराज पिता लक्ष्मण प्रसाद लोधी निवासी सेमरवारा थाना नागौद, ठंडीलाल पिता हरीदीन लोधी निवासी सेमरवारा थाना नागौद, सांखी गोपाल पिता समय लाल लोधी निवासी सेमरवारा थाना नागौद, शंखा प्रसाद पिता तेजमान लोधी निवासी सेमरवारा थाना नागौद, मलखान पिता लक्ष्मी प्रसाद यादव निवासी सिंगारपुर थाना गोयरा जिला छतरपुर, संजय कुमार पिता विश्रामदीन चौधरी निवासी करही कोठार थाना सिटी कोतवाली को जेल प्रबंधन द्वारा रिहा किया गया है।


 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned