मध्यप्रदेश में 16 हजार गर्भवतियों को नहीं हुई एचआईवी जांच, पढ़ें चौंकाने वाला खुलासा

मध्यप्रदेश में 16 हजार गर्भवतियों को नहीं हुई एचआईवी जांच, पढ़ें चौंकाने वाला खुलासा
16 thousand pregnant women did not investigate HIV

Suresh Kumar Mishra | Publish: Jun, 23 2019 07:08:37 PM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

राज्य एड्स नियंत्रण सोसायटी की समीक्षा में सामने आई लापरवाही

सतना। जिले के स्वास्थ्य केंद्रों में गर्भवती की प्रसव पूर्व की जाने वाले एचआइवी, वीडीआरएन, हीमोग्लोबिन सहित अन्य आवश्यक जांचें नहीं की जा रही हैं। स्वास्थ्य केंद्र में बरती जा रही गंभीर लापरवाही का चौंकाने वाला खुलासा राज्य एड्स नियंत्रण सोसायटी की समीक्षा में हुआ। रिपोर्ट की मानें तो लापरवाही के चलते वर्ष 2018-19 में (मई माह तक ) 15,750 गर्भवती की चिह्नाकन के बाद भी एचआईवी सहित अन्य जांचें नहीं की गई थीं।

स्वास्थ्य महकमे द्वारा वर्ष 2018-19 में मई महीने तक 21 हजार गर्भवती का चिह्नाकन किया गया था। इनमें से 15,750 गर्भवती की स्वास्थ्य केंद्रों तक पहुंचने के बाद भी एचआइवी, वीडीआरएल जैसी जांच नहीं की गई। अप्रेल 18 से अगस्त 18 तक चार माह में 75 फीसदी से अधिक गर्भवती जांच से वंचित रह गईं। महज 23 फीसदी गर्भवती की एचआइवी, वीडीआरएल जांच की गई।

हर साल पॉजिटिव मामले
आइसीटीसी जांच केंद्र में हर साल तीन से पांच गर्भवती एचआइवी पॉजिटिव सामने आ रही हैं। 2017 में 5 गर्भवती एचआइवी पॉजिटिव सामने आईं थीं। 2018 में 7 गर्भवती को एचआइवी होना पाया गया था। एचआइवी पॉजिटिव मामलों में सालाना वृद्धि भी हो रही है। लेकिन इसके बाद भी गर्भवती की जांच में पीएचसी और सीएचसी स्तर पर लापरवाही की जा रही है।

21 हजार चिह्नित, 5 हजार की जांच
महिला एवं बाल विकास महकमे की सर्वे रिपोर्ट के अनुसार जिलेभर में मई 18 तक 21935 गर्भवती चिह्नित की गईं। इन सभी गर्भवती की प्रसव पूर्व पांच प्रकार की जांच की जानी थी। लेकिन, जिलेभर में 28 जांच केंद्र होने के बाद भी 15750 गर्भवती की आवश्यक जांच नहीं की गई। महज 5250 गर्भवती की जांच की गई।

26 जांच केंद्रों का कामकाज ठप
एचाआइवी जांच के लिए जिला अस्पताल और सिविल अस्पताल मैहर में इंटीग्रेटेड काउंसलिंग एंड टेस्टिंग सेंटर खोले गए हैं। सामुदायिक और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र स्तर पर 26 फेसिलिटेड इंटीग्रेटेड कॉउंसिलिंग एंड टेस्टिंग सेंटर संचालित किए जा र हे हैं। राज्य एड्स नियंत्रण सोसायटी द्वारा प्रत्येक केंद्र का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिला अस्पताल और मैहर को छोड़कर सभी में जांच व्यवस्था ठप पड़ी हुई है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned