शिकार से पहले ही वन विभाग के हत्थे चढ़े ३ शिकारी

वन विभाग ने तत्परता दिखाते हुए पांच शिकारियों को दबोच लिया, लेकिन दो शिकारी अंधेरे का फायदा उठाकर भाग निकले।

By: Sonelal kushwaha

Published: 18 Apr 2020, 07:30 PM IST

सतना. मैहर रेंज में वन्यजीव को मौत के घाट उतारने की साजिश उस समय नाकाम हो गई है, जब इसकी सूचना वन अफसरों तक पहुंच गई। वन विभाग ने तत्परता दिखाते हुए पांच शिकारियों को दबोच लिया, लेकिन दो शिकारी अंधेरे का फायदा उठाकर भाग निकले।
मैहर के सगमनिया बीट स्थित कक्ष क्रमांक पी-५४६ में लकड़ी की खंूटी पर करंट का जाल बिछाते वक्त वन अमले की टीम ने जवाहर साकेत पिता पोंगा (५६), जगदीश साकेत पिता मुन्नालाल (३४), सुदर्शन जायसवाल पिता हीरालाल (५५) को गिरफ्तार कर लिया। जबकि, रामदयाल प्रजापति पिता हीरालाल (४५) व सियालाल साकेत पिता लल्लू (२७) फरार हो गए। सभी आरोपी भदनपुर के रहने वाले हैं। इन पर विभाग ने वन्यप्राणी संरक्षण अधिनियम १९७२ की धारा ९,५०,५१ के तहत अपराध दर्ज किया है। गिरफ्त में आए तीनों शिकारियों को कोर्ट में पेश किया गया। कार्रवाई एसडीओ एसके शर्मा के निर्देशन में की गई। इसमें भदनपुर सर्किल प्रभारी राजेंद्र प्रसाद तिवारी, हरिहर प्रसाद तिवारी, वन रक्षक अजय अग्रवाल, शिवकुमार वर्मा, मनोज सिंह, रामनिवास रावत, रामदास सेन, संतोष कोल, समिति क र्मी अजय पांडेय मौजूद रहे।

शिकारियोंं से हुई जप्ती--

वन्यप्राणी को मार कर शिकार करने की उम्मीद पर जंगल पहुंचे शिकारियों क ी मंशा पर वन विभाग ने पानी फेर दिया। जंगल में विचरण करने वाले जानवर को मारने के लिए शिकारियों ने बकायदा ३ नग कुल्हाड़़ी,१ नग चाकू ,लकड़ी की खूंटी ४० नग,वायर ५ मीटर,जीआर तार ६ किलो, बका १ नग रखा था। कार्रवाई के दौरान वन विभाग ने सारा सामान शिकारियों के कब्जे से बरामद किया।

Show More
Sonelal kushwaha Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned