SATNA: अवैध उत्खनन ने ली दो मासूमों की जान

सिटी कोतवाली थाना अंतर्गत जिगनहट नदी का मामला, प्रशासनिक लापरवाही उजागर


सतना।
सिटी कोतवाली थाना अंतर्गत जिगनहट नदी में अवैध उत्खनन ने दो मासूमों की जिंदगी निगल ली। बताया गया कि एक बच्चे की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं दूसरे बच्चे को गंभीर हालत में जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने नब्ज टटोलते ही मृत घोषित कर दिया। ग्रामीणों की मानें तो खनिज और राजस्व विभाग की लापरवाही के कारण मासूम बच्चों की जिंदगी गई है। कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंचकर मामले की जांच कर रही है।

मिली जानकारी के मुताबिक शुक्रवार की दोपहर करीब 12 बजे पवन दाहिया पिता अवधेश 7 वर्ष और विकास केवट पिता रामस्वरूप 8 वर्ष निवासी जिगनहट गांव स्थित नदी गए थे। जिगनहट नदी सूखी थी, लेकिन उसके बीच में एक पानी से भरा गहरा गड्ढा था। गड्ढे की गहराई के बारे में मासूम नहीं जानते थे। जिसमें नहाने के लिए नदी पर उतरे और डूब गए। जब काफी देर तक मासूम घर नहीं पहुंचे तो परिजनों ने तलाश की तो नदी में उनका शव तैर रहा था। नदी में बच्चों की डूबने की बात गांव सहित शहरभर में हवा की तरह फैली। जिसने सुना उसके कान खड़े हो गए।

काफी मशक्कत के बाद निकले शव
घटना की सूचना के बाद जिलेभर में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में घटना की सूचना सिटी कोतवाली पुलिस को दी गई। सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने बचाव कार्य शुरू किया। काफी मशक्कत के बाद डूबे बच्चों का शव निकाला गया। मृत बच्चों के शवों को जिला अस्पताल में पीएम कराया जा रहा है।

अभी नहीं चेते तो और होंगे हादसे
जानकारों की मानें तो गहरीकरण के नाम पर जिलेभर में अवैध उत्खनन कर गहरे गड्ढे किए गए है। प्रशासनिक लापरवाही के कारण बारिश शुरू होने से पहले ही गड्ढों ने जान लेना शुरू कर दिया। अगर जिला प्रशासन इसी तरह लापरवाही दिखाया तो आगे आने वाले दिनों में और मासूमों की जान जा सकती है।
Show More
suresh mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned