script4 days bill of corona victim Rs 1.05 lakh | कोरोना पीड़ि़त के परिजनों को 4 दिन का बिल 1.05 लाख रुपए थमाया, तो हॉस्पिटल का पंजीयन व लाइसेंस निरस्त | Patrika News

कोरोना पीड़ि़त के परिजनों को 4 दिन का बिल 1.05 लाख रुपए थमाया, तो हॉस्पिटल का पंजीयन व लाइसेंस निरस्त

आपदा को अवसर बनाना पड़ा महंगा

सतना

Published: April 29, 2022 10:27:29 am

सतना। कोरोना महामारी के बीच कई अस्पतालों द्वारा की गई खुली लूट के बीच ऐसे अस्पतालों पर शिकंजा कसने की शुरुआत कर दी गई है। ऐसा में सतना के बस स्टैंड स्थित संजीवनी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल प्रबंधन को आपदा को अवसर बनाना महंगा साबित हुआ। कोरोनाकाल में मरीज से मनमानी वसूली करने पर स्वास्थ्य विभाग ने उसका पंजीयन व लाइसेंस निरस्त कर दिया है।

hospital_fraud_and_now_action.jpg

सीएमएचओ डॉ अशोक अवधिया ने बताया कि कोविड आपदाकाल के दौरान मरीज से अनुपातहीन राशि लेने और सीएमएचओ कार्यालय से जारी पत्र के अनुपालन में इलाज संबंधी चाहे गए दस्तावेज उपलब्ध न कराने पर संजीवनी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के खिलाफ कार्रवाई की गई है।

डॉ राजेश कुमार ने सीएम हेल्पलाइन पोर्टल में 9 जून 2021 को शिकायत दर्ज कराई गई थी कि उन्होंने अपने पिता मन्नू लाल को अप्रैल 2021 में कोविङ-19 के उपचार के लिए संजीवनी सुपर हॉस्पिटल में भर्ती कराया था। प्रबंधन ने 4 दिन के इलाज का बिल एक लाख 5 हजार वसूला था। 6 दिन का बिल एक लाख 50 हजार जमा कराने को कहा था।

सीएमएचओ ने मांगे थे दस्तावेज
सीएमएचओ ने शिकायत का परीक्षण और निराकरण करने अस्पताल प्रबंधक को उपचार से संबधित सभी दस्तावेज, मरीज से ली गई राशि के बिल व केसशीट व्यक्तिगत रूप से उपस्थित होकर प्रस्तुत करने के निर्देश दिए थे, हॉस्पिटल के संचालक ने निर्देशों का पालन नहीं किया।

सीएमएचओ ने चाही गई जानकारी उपलब्ध न कराने पर एक पक्षीय निर्णय लेते हुए मप्र उपचर्यागृह तथा रुजोपचार संबधी स्थापना (रजिस्ट्रीकरण तथा अनुज्ञापन) अधिनियम 1973 तथा नियम 1997 यथा संशोधित के निहीत प्रावधानांतर्गत प्रदत्त शक्तियों का उपयोग करते हुए पंजीयन व अनज्ञप्ति तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दिया है तथा नए मरीज भर्ती नहीं करने को कहा है।

अब नए मरीज नहीं कर पाएंगे भर्ती
सीएमएचओ ने संजीवनी हॉस्पिटल प्रबंधन को निर्देशित किया है कि वर्तमान में भर्ती मरीजों व पुराने भर्ती मरीजों का 10 दिन तक फॉलोअप किया जा सकेगा। नए मरीजों की ओपीडी व भर्ती तत्काल प्रभाव से बंद कर दें। हॉस्पिटल संचालन बिना अनुमति पंजीयन न करें।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

राजस्थान में इंटरनेट कर्फ्यू खत्म, 12 जिलों में नेट चालू, पांच जिलों में सुबह खत्म होगी नेटबंदीनूपुर शर्मा पर डबल बेंच की टिप्पणियों को वापस लिया जाए, सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस के समक्ष दाखिल की गई Letter PettitionENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंMaharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातजंगल में सर्चिंग कर रहे जवानों पर नक्सलियों ने की फायरिंगपंचायत चुनाव: दो पुलिस थानों ने की कार्रवाई, प्रत्याशी का चुनाव चिन्ह छाता तो उसने ट्राली भर छाता बंटवाने भेजे, पुलिस ने किए जब्तMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.