हैदराबाद से लौटे जिले के 637 श्रमिक और विद्यार्थी, स्टेशन पर फेंका खाना

रीवा स्टेशन से बेला लाकर की गई स्क्रीनिंग, लिए गए सैम्पल

By: Pushpendra pandey

Published: 10 May 2020, 07:19 PM IST

सतना. लॉकडाउन से हैदराबाद में फंसे जिलेवासियों के आने का सिलसिला जारी है। शनिवार को हैदराबाद-रीवा श्रमिक स्पेशल सुबह ५ बजे रीवा स्टेशन पहुंची। जिले के ६३७ लोगों को २२ बसों के जरिए बेला लाया गया। यहां स्क्रीनिंग के दौरान डेढ़ दर्जन लोगों की रेंडम सैम्पलिंग की गई। यात्रियों की तादात ज्यादा होने से लोगों को स्क्रीनिंग के लिए इंतजार करना पड़ा। सोशल डिस्टेंसिंग भी तार-तार होती रही। पुलिस व प्रशासन के अधिकारी व्यवस्था बनाने में जुटे रहे। शनिवार को सतना के काफी यात्री आए।
हैदराबाद से आए सभी श्रमिकों को रीवा से बेला लाने के पहले बसों को सेनिटाइज किया गया था। बेला में प्रशासन ने खाने के पैकेट व पानी का इंतजाम किया था। स्क्रीनिंग सहित सभी औपचारिकता पूरी करने के बाद सभी को उनके गंतव्य तक भेज दिया गया। अभी तक बीते चार दिनों में कटनी व रीवा स्टेशन आने वाली ट्रेनों में जिले के करीब एक हजार लोग हैदराबाद, पुणे व मुम्बई से आ चुके हैं।

कुछ यात्रियों को रास न आई बिरयानी
शनिवार को सतना स्टेशन से डेढ़ दर्जन श्रमिक स्पेशल ट्रेनें गुजरीं। गुजरात-महाराष्ट्र में फंसे यूपी व बिहार के श्रमिकों को लेकर रोजाना दो दर्जन ट्रेनें गुजर रही हैं। शनिवार को सतना स्टेशन पर अहमदाबाद-जौनपुर श्रमिक स्पेशल व एक अन्य गाड़ी में सवार १२०० यात्रियों को खाने में बिरयानी व पानी की बॉटल दी गई। रेलवे प्रबंधन ने हर यात्री को खिड़की से खाना-पानी दिया। स्टेशन पर देखने को आया कि कुछ यात्रियों ने टेस्ट सही न होने की बात कह कर बिरयानी को वहीं ट्रैक पर फेंक दिया। इसी बिरयानी के लिए चार दिन पहले एक ट्रेन में श्रमिकों के बीच मारपीट हो गई थी।

आज दोपहर मुम्बई से आएगी ट्रेन
विंध्य के श्रमिकों की एक ट्रेन रविवार को आएगी। मुम्बई-रीवा श्रमिक स्पेशल से वहां फंसे विंध्य के श्रमिक दोपहर १ बजे रीवा रेलवे स्टेशन पहुंचेंगे। २४ कोच की इस ट्रेन में करीब १२०० श्रमिक सवार हैं।

Pushpendra pandey Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned