सतना शहर में बनेंगी 6 स्मार्ट पार्किंग, लगेंगे वाटर एटीएम

सतना शहर में बनेंगी 6 स्मार्ट पार्किंग, लगेंगे वाटर एटीएम
6 smart parking will be built in satna city, water ATM also

Ramashankar Sharma | Updated: 17 Jul 2019, 12:39:57 AM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

स्मार्ट सिटी की बोर्ड बैठक: प्रस्तुत किए जाएंगे कई प्लान, स्वीकृति मिलने पर शासन को भेजा जाएगा प्रस्ताव

सतना. स्मार्ट सिटी सतना के पैन सिटी (वर्तमान शहर) एरिया की रंगत बदलने स्मार्ट सिटी की बोर्ड बैठक बुधवार को आयोजित की जाएगी। इसमें शहर विकास और विस्तार के लिए कई प्लान स्वीकृति को रखे जाएंगे। अगर इन प्लान पर बोर्ड की सहमति बनती है और इन्हें स्वीकृति मिलती है तो इन कामों को प्रारंभ करने से पूर्व अनुमति के लिए शासन के पास भेजा जाएगा। बताया जा रहा कि पैन सिटी के लिए कई प्लान अब जाकर फाइनल हो चुके हैं। उनका पूरा ब्योरा भी तैयार हो चुका। प्लान में शहर को सुगम यातायात देने के लिए 6 स्मार्ट पार्किंग शामिल हैं । वाटर एटीएम, शहर को 7 स्मार्ट स्कूल, बिजली के तारों को व्यवस्थित करने जैसे प्रोजेक्ट भी शामिल हैं। बैठक की अध्यक्षता बोर्ड के चेयरमैन एवं कलेक्टर सतेंद्र सिंह करेंगे। एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर निगमायुक्त अमनवीर सिंह बैंस सहित अन्य डायरेक्टर मौजूद रहेंगे।
1// स्मार्ट पार्किंग: 250 वाहन क्षमता तक की 6 लोकेशन तय
शहर में 50 से 250 वाहन क्षमता तक की कुल 6 लोकेशन स्मार्ट पार्किंग के लिए तय की गई हैं । पार्किंग की खासियत होगी कि यहां लगातार कैमरे से निगरानी होगी, जो कमांड एंड कंट्रोल सिस्टम से जुड़े होंगे। पार्किंग में जैसे ही जगह खाली होगी, उस स्थान का पता तुरंत चलेगा और संबंधित जगह पर अगला वाहन पार्क किया जा सकेगा। निगरानी और नियंत्रण का काम सेंट्रल कमांड एंड कंट्रोल सेंटर से होगा। पार्किंग में कोई चाहे तो पहले से अपना स्पेस आरक्षित करवा सकेगा। स्मार्ट पार्किंग से शहर को अव्यवस्थित पार्किंग से निजात मिलेगी। यातायात भी सुगम हो सकेगा।

2// वाटर एटीएम: शुद्ध और सस्ता पानी मिलेगा
शहर में सर्वाधिक गंदगी प्लास्टिक के पाउच से फैलती है। नालियां भी इस वजह से चोक होती हैं । लोगों को शुद्ध जल भी नहीं मिल पाता या फिर मिलता है तो उसकी कीमत काफी ज्यादा होती है। ऐसे में लोगों को सहज, सस्ता और शुद्ध जल प्रदान करने के लिए विभिन्न इलाकों में वाटर एटीएम लगाए जाएंगे। इसका पूरा प्लान तैयार हो चुका है। हालांकि यह प्लान काफी पहले तैयार हुआ था पर जनप्रतिनिधियों की निजी गणित के चलते यह पूरा नहीं हो सका था। अब स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत इसे लगाया जाएगा।

3// बिजली तार: 5 करोड़ से होंगे काम
आमतौर पर देखा जाए तो पूरे शहर में झूलती तारें दिख जाती हैं। जहां देखो वहीं बीच रास्ते से एक तार इधर से उधर गई है। मामले में निगमायुक्त ने बिजली कंपनी के अधिकारियों से चर्चाकर 5 करोड़ के प्लान को जमीन पर उतारने का निर्णय लिया है। शहर के मुख्य मार्गों पर झूलने वाले तार कसे जाएंगे। सिक्योरिटी कैमरे इन तारों की वजह से कई बार चीजें पकड़ नहीं पाते हैं। ऐसे में यह तय किया गया कि रोड के दोनों ओर की तारें सीधी की जाएंगी। झूलती तारों को हटाकर एक दिशा में किया जाएगा। यह काम ट्रांसफार्मर से उपभोक्ता एंड तक किया जाएगा। इसके लिए ढाई करोड़ निगम और ढाई करोड़ रुपए एमपीईबी लगाएगा।

4// स्मार्ट पोल: नंबर प्लेट पर रहेगी निगरानी
स्मार्ट सिटी के लिए इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम लाया जा रहा। इसमें स्मार्ट पोल मुख्य भूमिका में होंगे। प्रमुख चौराहों पर लगे ये पोल न केवल वाहनों की नंबर प्लेट की निगरानी कर सकेंगे, वहीं चौराहों पर यातायात दबाव के अनुसार ट्रैफिक सिग्रल को भी नियंत्रित करेंगे। इसमें लगा दूसरा कैमरा चौराहों पर रुकने वाले वाहनों के नियम उल्लंघन पर नजर रखेगा और ऐसा होने पर पोल पर लगे माइक सिस्टम से अनाउंस किया जाकर व्यवस्था तत्काल दुरुस्त करवाई जाएगी।

टेंडर हो चुका, सिस्टम तैयार करना चुनौती

बताया गया कि इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम के लिए स्मार्ट पोल का टेंडर हो चुका है। लेकिन, इसके ठेकेदार ने काम करने से पहले आधारभूत जरूरतें पहले तैयार करवाने की बात कही हैं । इस दिशा में प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है। पोल के अनुरूप चौराहों को तैयार किया जाएगा। अन्य आवश्यक व्यवस्थाएं पहले की जाएंगी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned