पुलिस थाने में टीआइ ने गोली मारी, सतना में बवाल, दो विधायक धरने पर, एसपी को हटाने के आदेश

Highlights

  • सतना के सिंहपुर थाने में गोलीकांड
  • गुस्साए लोगों का हंगामा
  • दो विधायक धरने पर
  • सीएम ने एसपी को हटाया

By: Manish Gite

Published: 28 Sep 2020, 05:59 PM IST

 

सतना। पूछताछ के दौरान एक टीआई ने थाने में ही युवक को गोली मार दी गई। इसके बाद मचे सियासी तूफान में टीआई की जगह एसपी पर गाज गिर गई। मुख्यमंत्री ने एसपी को तत्काल हटाने के निर्देश दिए हैं।

 

मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद सतना के एसपी को तत्काल हटाने के आदेश हो गए हैं। साथ ही पीड़ित परिवार को 10 लाख रुपए मुआवजा देने के भी निर्देश दिए गए हैं। इसके अलावा इस पूरे मामले की अब न्यायिक जांच की जाएगी। इधर, खबर है कि सोमवार को दोपहर में थाना प्रभारी को मेडिकल जांच के लिए रीवा ले जाया गया है। वहां जांच की जाएगी कि वे शराब के नशे में थे या नहीं। इससे पहले थाना प्रभारी और आरक्षण को निलंबित कर दिया गया है।

 

पूछताछ के समय युवक को लगी गोली

सतना के सिंहपुर थाना क्षेत्र में देर रात पूछताछ के दौरान प्रभारी टीआइ ने अपनी सर्विस रिवॉल्वर से गोली मार दी। गोली लगने के बाद प्रभारी टीआइ अपने वाहन से युवक को इलाज के लिए अस्पताल ले जा रहे थे, जहां रास्ते में उसकी मौत हो गई। युवक की गोली सिर में लगी, जिससे उसकी आंख के पर-खच्चे उड़ गए थे।

 

कमलनाथ ने शिवराज सरकार को घेरा

घटना के बाद पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर सवाल उठाए हैं। कमलनाथ ने कहा है कि शिवराज सरकार में ये कैसी कानून व्यवस्था? सतना जिले के सिंहपुर थाने में पूछताछ के लिए लाए गए राजपति कुशवाह नाम के व्यक्ति को रात में लॉक्प में गोली मार दी गई, परिजन यह आरोप लगा रहे हैं।

kamal nath

उच्चस्तरीय जांच करवाए सरकार

कमलनाथ ने कहा है कि परिजन व ग्रामीण शव लेने व घटना का विरोध करने जब थाने पहुंचे तो उन पर बर्बर तरीके से लाठीचार्ज किया गया, उन्हें शव भी नहीं दिया जा रहा है। मैं सरकार से मांग करता हूं कि इस घटना की उच्च स्तरीय जांच हो, दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही हो, परिवार को इंसाफ मिले।

15.png

Update News

5.30 pm
मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद एसपी को हटाया। मृत के परिजनों को 10 लाख रुपए मुआवजे का भी हो गया ऐलान।

5.00 PM
एफआईआर नहीं हुई और न ही मृतक के परिजनों को सहायता राशि की घोषणा की गई।

मृतक गांव में ही कारपेंटर का काम करता था उसके परिवार में सिर्फ एक बेटी और पत्नी है

4:30 PM
नागौद कालिंजर मार्ग खुला।

4.00 PM
पुलिस और सड़क में बैठे लोगों के बीच गाली-गलौज से भड़के एसपी ने दिए लाठीचार्ज के आदेश। एसपी के नेतृत्व में पुलिस ने सड़क पर बैठे लोगों पर किया लाठीचार्ज सड़क में बैठक परिजनों को भी पीटा।


3.00 PM
नागौद कालिंजर मार्ग पर अब तक जमे रहे लोग। सड़क में बैठे लोगों की मांग थी कि आरोपी थाना प्रभारी व उसके सहायकों पर 302 का मुकदमा दर्ज हो और मृतक के परिजनों को को सहायता राशि दी जाए।

2.00 PM
कलेक्टर अजय कटेसरिया सिंहपुर थाना पहुंचे। उन्होंने जनप्रतिनिधियों को अब सुबह से हुई कार्रवाई की जानकारी दी। कलेक्टर ने कहा जुडिशल जांच के आदेश हुए हैं, जांच अधिकारी के निर्देश के बाद ही एफआईआर होगी।

11.30 AM
मृतक के परिजनों को सहायता राशि के लिए भोपाल बात हुई है शाम तक सहायता राशि का निर्णय हो जाएगा


11:00 AM
सतना विधायक सिद्धार्थ कुशवाहा एवं विधायक जुगल बागरी सिंहपुर थाना पहुंचे। विधायक और एएसपी के बीच कार्रवाई को लेकर बातचीत हुई।

8:00 AM
सड़क जाम खुलवाने जनता और पुलिस के बीच झड़प। पुलिस ने किया लाठी लाठी चार्ज, तो लोगों ने बरसाए पत्थर। काफी देर तक हंगामा चलता रहा। पुलिस को आंसू गैस के गोले छोड़ने पड़े। भारी पुलिस बल तैनात।

7:00 AM
-मृतक के परिजन व ग्रामीण सिंहपुर थाने पहुंचे। सड़क पर लगाया जाम।

11.png12.png

यह है मामला

-राजपति कुशवाह पुत्र बद्री कुशवाहा (48) निवासी नारायणपुर चौकी रैगांव को सिंहपुर पुलिस ने चंदन तस्करी के मामले में रविवार को दोपहर एक बजे उसके घर से उठाया था।

-रात 10 बजे सिंहपुर थाना प्रभारी विक्रम पाठक व एक आरक्षक लॉकअप में पहुंचे और युवक पर थर्ड डिग्री का उपयोग कर उससे पूछताछ करने लगे। इस दौरान टीआइ की सर्विस रिवॉल्वर से गोली चली और युवक के सिर में धंस गई। गोली लगने के बाद युवक को पुलिस वाहन में बिड़ला अस्पताल लाया गया। जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

 

14.png

 

भड़क गए लोग

इस घटना की खबर जैसे ही लोगों को लगी तो थाने में लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। वे हंगामा करने लगे। इसे देख थाने में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया। वहीं पुलिस बल को लोगों को तितर-बितर करने के लिए बल प्रयोग करना पड़ा, वहीं आंसू गैस के गोले भी छोड़ना पड़े।

दो विधायक धरने पर

घटना के बाद से दो विधायक अपने समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गए हैं। उनकी मांग है कि थाने के स्टाफ पर धारा 302 का प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार किया जाए। प्रशासन के अधिकारी विधायकों को समझाने का प्रयास कर रहे हैं, लेकिन वे अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं।

13.png

टीआइ ने पी थी शराब

बताया जाता है कि शाम 7 बजे टीआइ, आरक्षक आशीष और टीआइ के वाहन चालक ने साथ में शराब पी थी। रात 9 बजे टीआइ थाने में पहुंचे। यहां थाने के भीतर एक युवक को देखकर भड़क गए। उसके साथ मारपीट करते हुए उसे वाहर गा दिया। इसके बाद लॉकअप में बंद युवक के हाथ-पैर बांधकर उससे पूछताछ शुरू कर दी। बताया जा रहा है कि गोली चलने से पहले टीआइ ने युवक के सा जमकर मारपीट की थी। इस घटना को देख ड्यूटी में तैनात अन्य आरक्षक अपने कमरों की ओर भाग गए थे।

Kamal Nath
Show More
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned