घरवापसी करने वाले प्रवासी मजदूरों की संख्या छिपाने में जुटा प्रशासन

-शासन को भेजी जा रही गलत सूचना

By: Ajay Chaturvedi

Updated: 16 May 2020, 02:32 PM IST

सतना. एक तरफ केंद्र व राज्य सरकार हर प्रवासी मजदूर को शासन की हर योजना का लाभ देने का ऐलान कर रही है। लेकिन हर जरूरतमंद को सरकारी योजना का लाभ पहुंचाने का दायित्व स्थानीय प्रशासन के कंधे पर है। अब वहीं से अगर गलत आंकड़े शासन को भेजे जाएंगे तो हर जरूरतमंद की जरूरतें पूरी होने से रहीं। ऐसा ही कुछ सतना में किया जा रहा है।

बताया जा रहा है कि जिला प्रशासन से राज्य शासन को भेजी जाने वाली रिपोर्ट में सतना आने वाले प्रवासी मजदूरों की संख्या ही गलत बताई जा रही है। शासन को फर्जी आंकड़े भेजने का आरोप लगने लगा है। उदाहरण के तौर पर नोडल अधिकारी अपर जिलाधिकारी के आंकड़ों के अनुसार जिले में 15 मई तक अन्य प्रांतों से महज 1362 लोग ही सतना पहुंचे हैं। लेकिन हकीकत ये है कि 8 से 15 मई के बीच श्रमिक स्पेशल ट्रेन से ही करीब 3000 लोग सतना आए हैं। बस,ट्रक व पैदल आने वालों की तादाद अलग है।

बताया जा रहा है कि 8 से 15 मई के बीच श्रमिक स्पेशल ट्रेन से सातना आने वाले लोगों की संख्या आधिकारिक तौर पर 2597 है। स्क्रीनिंग टेस्ट सेंटर के आंकड़ों के मुताबिक यह संख्या लगभग 3000 है। ऐसे में अपर जिलाधिकारी के आंकड़ों पर सवाल उठना तो लाजमी है।

इस संबंध में जब अपर कलेक्टर आईजे खलखो से संपर्क किया गया तो उनका जवाब था कि मुझे सभी जगह से जो जानकारी दी जाती है वही भेजते हैं। अगर आंकड़ों में अंतर की बात सामने आ रही है तो इसका पता कराएंगे।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned