जिला अस्पताल में कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन!

-कोरोना से मौत के बाद परिजनों को सौंप दिया शव
-जिले के कोरोना से अब तक 59 मौत
-पूर्व महापौर, विधायक के भाई कोरोना संक्रमित

By: Ajay Chaturvedi

Published: 23 Sep 2020, 04:44 PM IST

सतना. एक तरफ जहां कोरोना का संक्रमण लगातार बेकाबू होता जा रहा है, वहीं अब स्वास्थ्य महकमा भी इसमें लापरवाही बरतने लगा है। यहां तक कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन, सरकारी अस्पतालों में होने लगा है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक मैहर निवासी एक 35 वर्षीय युवक की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई है। युवक को जिला अस्पताल के ट्रामा यूनिट में बनाए गए डेडिकेटेड वार्ड में भर्ती किया गया था। अस्पताल में भर्ती होने के कुछ ही देर बाद युवक की मौत हो गई। अब बताया जा रहा है कि परिजन युवक का शव अपने साथ ले गए। इस पर अब सवाल यह कि अगर कोरोना से हुई मौत के बाद शव को परिजनों को कैसे सौंपा गया? यह तो कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन है।

हालांकि पिछले दिनों जब कोरोना से मौत के बाद शवों की अदला-बदली की खबरें आने लगीं तो केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह व्यवस्था कर दी कि कोरोना के संदिग्ध मरीजों की मौत के बाद शव, अंतिम संस्कार के लिए उनके परिजनों को सौंप दिया जाएगा। इसके लिए मंत्रालय ने नियमों में बदलाव कर दिया है। लेकिन इस नए नियम की जानकारी अधिकांश लोगों को नहीं है जिसके चलते जिले में तरह-तरह की चर्चाएं व्याप्त हैं। वैसे इस मौत के बाद जिले में कोरोना से मौत का आंकड़ा 59 तक पहुंच गया है।

जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण से मौतों का सिलसिला लगातार जारी है। इस बीच खबर है कि पूर्व मेयर व विधायक के भाई कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। बताया जा रहा है कि सतना में कोरोना पॉजिटिव और भोपाल पहुंच कर निगेटिव पाए गए जिले के नागौद विधायक और प्रदेश के पूर्व गृह मंत्री के भाई भी कोरोना वायरस के शिकार हो गए हैं। उचेहरा क्षेत्र में हुई रैपिड एंटीजन टेस्टिंग में उनका सैंपल कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। साथ ही सतना के पूर्व महापौर और लोकसभा चुनाव लड़ चुके कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भी कोरोना संक्रमण की गिरफ्त में आ गए हैं। सोमवार देररात रैपिड टेस्ट में बिरला रोड निवासी पूर्व मेयर की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है।

उधर शहर के चाणक्यपुरी कॉलोनी में स्थित निजी नर्सिंग होम के मालिक डॉक्टर दंपति के संक्रमित पाए जाने के बाद अब उसी नर्सिंग होम के एक और डॉक्टर में संक्रमण की पुष्टि हुई है। एहतियाती तौर पर नर्सिंग होम को पहले ही बंद कर दिया गया है।

कलेक्टर के स्टेनो के बाद नगर आयुक्त के स्टेनो भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। वे इलाज के लिए जबलपुर चले गए थे और राहत मिलने के बाद वापस भी लौट आए लेकिन कोरोना ने पीछा फिर भी नहीं छोड़ा है। स्टेनो का रिपीट सैंपल भी पॉजिटिव ही आई है।

आईसीएमआर की जांच में कोरोना संक्रमित पाए गए लोगों में नागौद के दवा व्यापारी की एक 19 वर्षीय युवती शामिल है। दवा व्यापारी की पिछले दिनों कोरोना संक्रमण से मौत हो गई थी। सतना शहर के समीपी ग्राम बेलहटा में एक परिवार की 53 वर्षीया महिला संक्रमित मिली हैं तो उचेहरा के ग्राम बाबूपुर में 13 वर्ष तथा 30 वर्ष में भी संक्रमण की पुष्टि हुई है। तीन मरीज मैहर में मिले है जिनमें आमा डांडी के वार्ड 13 में 32 वर्ष तथा वार्ड 2 में 22 वर्ष तथा सरला नगर मैहर की शिव कॉलोनी में 22 वर्ष शामिल हैं। बिरसिंहपुर क्षेत्र में भी कोरोना ने फिर असर दिखाया है। बिरसिंहपुर कस्बे में 60 वर्ष को संक्रमित पाया गया है जबकि ग्राम पगार में सिंह 30 वर्ष एवं बरहना में 50 वर्ष की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned