Patrika: मौत के बाद युवक के शरीर में हुई हरकत, भीड़ ने किया हंगामा

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नागौद में बवाल

 

By: Pushpendra pandey

Published: 22 Nov 2020, 08:28 PM IST

Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

सतना. करंट लगने के बाद एक युवक को अस्पताल लाया गया। वहां डॉक्टर ने नब्ज टटोलते हुए उसे मृत घाषित कर दिया। कुछ देर बाद शव की जकडऩ खत्म होते ही शव में हरकत हुई तो लोगों ने समझा कि वह जिंदा है। बस इसी बात पर हंगामा हो गया। भीड़ बढ़ते देर नहीं लगी और अस्पताल में इस बीच तोडफ़ोड़ के साथ डॉक्टरों को खरी खोटी सुना दी गई। नागौद सीएचसी में हुए इस बवाल के बाद मृत व्यक्ति का शव बिड़ला अस्पताल लाया गया जहां डॉक्टरों ने फिर से मृत्यु की पुष्टि कर दी। तब जाकर सभी संतुष्ट हुए। जिसके बाद पुलिस ने जिला अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम कराते हुए शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया।

यह है मामला
पता चला है कि हरदुआ मोहल्ला निवासी महेन्द्र कुशवाहा पुत्र रामप्रताप कुशवाहा (32) अपने साथियों के साथ जसो रोड स्थित मंदिर में भण्डारे के आयोजन में लगा था। हरे बांस में झंडा बांधकर महेन्द्र लगा रहा था तभी ऊपर से निकली हाइटेंशन लाइन के करंट का झटका लगते ही महेन्द्र बेहोश हो गया। दोपहर करीब 12 बजे हुई इस घटना के बाद महेन्द्र को उसके साथी सीएचसी नागौद में दोपहर साढ़े 12 बजे लेकर पहुंचे। जहां मौजूदर डॉ. सर्वेश प्रताप सिंह ने उसे मृत घोषित कर दिया।

संतुष्ट नहीं हुई भीड़
मृत्यु की पुष्टि करते हुए डॉक्टर ने तहरीर जारी कर शव मरचुरी भेजने को कहा। लेकिन मृतक के परिजन और रिश्तेदारों के इंतजार में शव रखा रहा। इस बीच शव की जकडऩ खत्म हाने पर हाथ हिला तो समझ कि अभी जिंदा है। ऐसे में महेन्द्र का शव लेकर फिर डॉक्टर के पास दौड़ पड़े। तब डॉ. बीके तिवारी और डॉ. अमित सोनी ने फिर से जांचा और बताया कि मृत्यु हो चुकी है। लेकिन कोई समझने को तैयार नहीं था। इसके बाद हंगामा काटते हुए परिजन शव लेकर बिड़ला अस्पताल गए। जहां फिर से मृत्यु की पुष्टि हुई। इसके बाद जिला अस्पताल में शव ले जाकर उप निरीक्षक पवन राज की मौजूदगी में पोस्टमार्टम कराया गया।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned