डॉक्टर के इंतजार में पोस्टमार्टम के लिए 22 घंटे से ज्यादा रखा रहा शव

डॉक्टर के इंतजार में पोस्टमार्टम के लिए 22 घंटे से ज्यादा रखा रहा शव
An embarrassing case for humanity in the chc Amadara

Vikrant Kumar Dubey | Publish: Jun, 21 2019 07:01:02 AM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अमदरा में मानवता को शर्मसार करने वाला मामला


सतना. सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अमदरा में मानवता को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है। यहां चिकित्सक के इंतजार में पोस्टमार्टम के लिए 22 घंटे से भी अधिक समय तक मृतक का शव रखा रहा। परिजन पुलिस थाना और अस्पताल के चक्कर काटते रहे। बाद में थाना प्रभारी की सूचना पर एसडीएम, एसडीओपी सहित अन्य अधिकारियों ने हस्तक्षेप किया तब मुश्किल से पोस्टमार्टम हो सका। चिकित्सकों की लापरवाही को गंभीरता से लेते हुए सीएमएचओ डॉ विजय कुमार आरख ने बीएमओ डॉ वीके गौतम को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया है।

पुलिस थाना अमदरा को 18 जून दोपहर तीन बजे सूचना मिली कि रेलवे ट्रैक के पास व्यक्ति का शव पड़ा है। पुलिस ने पंचनामा बनाकर पतासाजी का प्रयास किया। आसपास पूछताछ में सफलता नहीं मिलने के बाद शव को 18 जून शाम ४ बजे पीएम के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अमदरा भेजा। लेकिन चिकित्सकों ने देर होना बताकर पीएम करने से इंकार कर दिया। उन्होंने कहा कि अब 19 तारीख को ही पीएम हो पाएगा। लेकिन 19 को भी शाम 4 बजे तक कोई चिकित्सक एम करने को तैयार नहीं था। पीएम में देरी से परिजन परेशान हो रहे थे। वे अस्पताल और पुलिस थाना के चक्कर काट रहे थे। थाना प्रभारी ने मामले की जानकारी एसडीएम, एसडीओपी को दी। उन्होंने सीएमएचओ डॉ विजय कुमार आरख से संपर्क किया। अधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद मुश्किल से मृतक का पीएम हो पाया।

पीएम के पहले मृतक की हुई पहचान
पुलिस ने पतासाजी की तो सामने आया कि मृतक सुशील यादव पिता मेहतर यादव है। उसकी उम्र 35 साल है। जो वन सिवनी थाना रैपुर जिला महासमुंद छत्तीसगढ़ का रहने वाला है। सुशील रीवा स्टेशन से रीवा बिलासपुर ट्रेन में बैठा था। जो किसी हादसे का शिकार हो गया।

बीएमओ को नोटिस
सीएमएचओ डॉ विजय कुमार आरख ने मामले को गभीरता से लेते हुए सीएचसी अमदरा के प्रभारी बीएमओ डॉ वीके गौतम को लापरवाही पर नोटिस जारी किया गया। डॉ गौतम को तीन दिन में जवाब देने के निर्देश दिए गए हैं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned