लॉकडाउन में बड़े शहरों से घर वापसी करने वालों को काम का एक और मौका

- छूटे प्रवासी मजदूरों का होगा पंजीकरण

By: Ajay Chaturvedi

Published: 02 Sep 2020, 08:41 PM IST

सतना. कोरोना संक्रमण के फैलाव को मार्च में लागू लॉकडाउन के दौरान काम-धंधा छूट जाने पर गांव-घर वापसी करने वालों को उनकी योग्यता के मुताबिक काम देने की एक और पहल होने जा रही है। मध्य प्रदेश सरकार ने ऐसे लोग जो पहली बार हुए पंजीयन में भाग नहीं ले सके थे उन्हें एक और मौका देने जा रही है। इसके लिए सात से 11 सितंबर तक रोजगार सेतु पोर्टल पर उन्हें अपना रजिस्ट्रेशन कराना होगा। बता दें कि पूर्व में 27 मई से 6 जून तक अभियान चला कर गैर जनपद अथवा गैर प्रांत से आने वाले लोगों जिन्हें प्रवासी मजदूर नाम दिया गया था का पंजीयनकिया गया था।

प्रमुख सचिव श्रम ने इस संबंध में निर्देश जारी किया है। बताया है कि पूर्व में जिन लोगों का रजिस्ट्रेशन नहीं हो सका था वो 7 से 11 सितंबर के बीच अनिवार्य रूप से अपना पंजीयन सुनिश्चित करा लें। सभी नगर निकायों, जिला पंचायतों तथा ग्राम पंचायतों में ऐसे लोगों की सूची उपलब्ध है। इस सूची में जो मजदूर अब तक पंजीयन से वंचित हैं उन्हें आवश्यक अभिलेखों के साथ रोजगार सेतु में पंजीयन कराएं।

यह जिम्मेदारी कलेक्टर को सौंपी गई है। कहा गया है कि कलेक्टर की जिम्मेदारी होगी कि वो सभी सूचीबद्ध मजदूरों का 5 सितंबर तक सत्यापन कराकर शेष मजदूरों के पंजीयन की कार्रवाई करें। पोर्टल में केवल एक मार्च 2020 के बाद विभिन्न राज्यों से जिले में वापस आए मजदूरों का ही पंजीयन किया जाएगा। मजदूरों के पंजीयन के लिए नगरीय निकाय तथा जनपद पंचायतों को लॉगिन आईडी एवं पासवर्ड की सुविधा दी जा रही है।

Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned