यूथ को नशे से बचाने अब बॉलीवुड का सहारा, 'सुदर्शन' मददगार

यूथ को नशे से बचाने अब बॉलीवुड का सहारा, 'सुदर्शन' मददगार
Art of Living will launch special campaign

Jyoti Gupta | Publish: Apr, 11 2019 02:37:27 PM (IST) | Updated: Apr, 11 2019 02:37:28 PM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

आर्ट ऑफ लिविंग शुरू करेगा विशेष अभियान

 

सतना. संयुक्त परिवार अब एकल में परिवर्तित होते जा रहे हैं। सभी अपने आपमें व्यस्त हैं। मोबाइल टेक्नोलॉजी ने भी लोगों को एक-दूसरे से अलग कर दिया है। न किसी के पास समय है न ही कोई किसी की समस्या सुनने वाला। इस बीच महंगाई बढ़ रही है। इसके चलते घर के बच्चों को छोड़कर प्रत्येक सदस्य जॉब, बिजनेस कर रहे हैं। इन सबका बुरा असर बच्चों की जिंदगी में पड़ रहा है। भौतिक सुख-सुविधाओं का लाभ तो बच्चों को मिल रहा है, लेकिन अकेलेपन के कारण बच्चे, टीनएजर्स, युवा डिप्रेशन और नशे की गिरफ्त में पहुंच रहे हैं। हाल ही में आर्ट ऑफ लिविंग संस्था द्वारा एक पहल की गई। इसके तहत बालीवुड सेलिब्रेटी बच्चों को नशे से दूर रहने और योग के लिए प्रेरित करते हैं। यही नहीं, शहर की संस्था द्वारा एक निजी कॉलेज में मोटिवेशनल वर्कशॉप का आयोजन किया। इसमें संस्था के गुरुदेव श्रीश्री रविशंकर महाराज, अभिनेता संजय दत्त और खिलाड़ी कपिल देव ने चंडीगढ़ से आयोजित लाइव टेलीकॉस्ट के तहज कॉलेज के छात्रों से बात की और उन्हें मोटिवेट किया।
अलग-अलग संस्थानों में वर्कशॉप
संस्था के क्षेत्रीय हैप्पीनेस शिक्षक रामचंद्र नथानी ने बताया, पहल की शुरुआत १५ दिन पहले हो चुकी है। अब जल्द ही सरकारी और निजी संस्थानों, अमृत वाटिका और टीएमडी हाल में क्लासेस संचालित की जाएंगी। इसमें नौ से २५ साल के युवाओं को अलग से मोटीवेट किया जाएगा। इन सभी को लाइव टेलीकास्ट की मदद से अलग अलग सेलिब्रटी से मोटीवेट कराया जाएगा। इसके लिए रजिस्ट्रेशन भी शुरू किए जा चुके हैं।


एेसे पहचानें डिप्रेशन को

- मन का उदास रहना और किसी काम में मन न लगना ।
- अधिक काम न करने पर भी खुद को थका हुआ महसूस करना।

- हमेशा आत्मविश्वास में कमी और दिमाग में नकारात्मक विचार आना।

बच्चों को ऐसे पहचानें
- हमेशा चुपचाप रहने पर।

- अकेला रहने पर ।
- स्कूल ही नहीं घर लौटने पर बाकी बच्चों के साथ न रहे।


पैरंट्स कर सकते हैं यह

- बच्चे को जानने की कोशिश करें।
- पूछे उसे कौन सा विषय पसंद है और किस हीरो की फि ल्मे उसे पसंद हैं।

- किसी भी बच्चे से उसकी तुलना न करें।
- ऑफि स से लौटने के बाद आपस में बात करने के बजाय अपने बच्चों के साथ वक्त बिताएं।


युवा अपना सकते हैं यह तरीका

- रोजाना मेडिटेशन करें।
- किसी न किसी फि जिकल एक्टिविटी में खुद को अनिवार्य रूप से शामिल करें।

- खान पान पर ध्यान दें।
- हमेशा अच्छा भोजन करें।

- रोजाना कम से कम 6 घंटे की नींद लें।
- रात में सोने का समय तय करें और सुबह उठने का भी वक्त।

- जो साथी नशा करते हैं उनसे हमेशा दूरी बनाए रखें।
- नकारात्मक विचार रखने वाले साथियों से दूरी बनाएं।

- अपनी जिंदगी का टारगेट फि क्स करें और उसी के अनुसार मेहनत करें।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned