भाजपा विधायक के बिगड़े बोल कहा मैं पार्टी प्रवक्ता नहीं जनप्रतिनिधि हूं, जो जनहित में होगा वही बोलूगा

मैहर विधायक ने कहा-जनता मेरे लिए सब कुछ

सतना. सीएए एवं धारा 370 का विरोध कर सुर्खियों में आए मैहर विधायक अपने पार्टी विरोधी बयान पर कायम हंै। उन्होंने शुक्रवार को प्रेसवार्ता में कहा कि मैं किसी पार्टी का प्रवक्ता नहीं हूं। मुझे जनता ने चुनकर प्रतिनिधि बनाया है। मंै जनता का सेवक हूं, इसलिए जो जनहित के खिलाफ है उसका विरोध करता हूं और आगे भी करूंगा। उन्होंने कहा कि मेरे लिए पार्टी नहीं जनता सर्वोपरि है। भारत एक धर्म निरपेक्ष देश है। इसमें जाति एवं धर्म के नाम पर किसी की नागरिकता छीनना गलत है। जो बाबा आम्बेडकर के संविधान को नहीं मानते, वे इस संविधान को जला दें।

उठाई अलग विंध्य प्रदेश की मांग
विंध्य प्रदेश के मध्यप्रदेश में विलय के बाद विंध्य की धरती विकास में पिछड़ गई है। विंध्य क्षेत्र में एक भी एेसा अस्पताल नहीं जहां लोग अपना इलाज करा सकें और एक भी एेसा सरकारी स्कूल नहीं जहां लोग अपने बच्चों को पढ़ा सकें। प्रदेश सरकार ५ दशक से लगातार विंध्य की उपेक्षा कर रही है। एेसे में विंध्य की जनता द्वारा अलग प्रदेश की मांग जायज है। मैं इस मांग का समर्थन करते हुए जनता के साथ हूं। यह बात शुक्रवार को अलग विंध्य प्रदेश की मांग का बिगुल फंूकते हुए मैहर विधायक नारायण त्रिपाठी ने कही। उन्होंने कहा कि छोटे-छोटे राज्यों के गठन से क्षेत्र का विकास तेजी हो होता है।
जरूरत पड़ी तो रोकंूगा रेल

नारायण ने कहा कि मुझे जानकारी मिली है कि ललितपुर-सिंगरौली रेललाइन के लिए जिन किसानों की जमीन अधिग्रहित की गई थी उन्हें आज तक नौकरी नहीं दी गई। रेलवे की यह मनमानी नहीं चलेगी। मैंने डीआरएम से बात की है। यदि जल्द ही किसानों के परिजनों को नौकरी नहीं दी गई तो सड़क पर उतर कर आंदोलन करूंगा। जरूरत पड़ी तो रेल रोको आंदोलन करूंगा।

Sukhendra Mishra Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned