बच्चों में डेवलप होगा हेल्दी इटिंग बिहेवियर

बच्चों में डेवलप होगा हेल्दी इटिंग बिहेवियर
CBSE will run Healthy Eating Campaign

Jyoti Gupta | Publish: Dec, 24 2018 10:32:05 PM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

द राइट इंडिया मूवमेंट के तहत सीबीएसई चलाएगा हेल्दी इटिंग कैंपेन

सतना. हेल्दी डाइट और हेल्दी इटिंग हैबिट्स के लिए स्टूडेंट को अवेयर करने के लिए सीबीएसई दी राइट इंडिया मूवमेंट शुरू कर रहा है । फू ड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया के साथ मिलकर चलाए जाने वाले इस कैंपेन में पांच थीम्स के जरिए बच्चों को फूड के बारे में अवेयर किया जाएगा। हेल्दी डाइट और हेल्दी इटिंग हैबिट्स से स्टूडेंट्स को अवेयर कराने के लिए अब रेगुलर क्लासेस के साथ जीरो पीरियड भी लगेंगे ।

लंच बॉक्स में लाना होगा एक फल

सीबीएसई एक्सपर्ट कहना है कि सुबह जल्दी स्कूल शुरू होने की वजह से कई बच्चे ब्रेकफ ास्ट तक नहीं कर पाते हैं । वे दस बजे के बाद सीधे लंच ही करते हैं । बच्चे दिन की सबसे महत्वपूर्ण मील न छोड़े, लिहाजा अब स्कूलों में जीरो पीरियड भी लगाया जाएगा। स्कूल में आते ही बच्चों को न्यूट्रिशंस ब्रेकफ ास्ट कराया जाएगा। पैरंट्स को भी बताया जाएगा कि बच्चों को ब्रेकफ ास्ट में क्या दें । इसके अलावा फल की हैबिट के लिए बच्चों को २१ डे चैलेंज भी दिया जाएगा। इसके तहत उन्हें टिफि न में हर दिन एक फल लाना होगा । यह उन्हें 21 दिन तक करना होगा।

बच्चों को है विटामिन डी की जरुरत

आजकल बच्चे गैजेट पर ही खेलते हैं। आउटडोर एक्टिविटीज बिल्कुल खत्म हो चुकी है । बच्चे मैदान में खेल कर मजबूत बने इसके लिए दोपहर में भी नून असेंबली लगेगी । ताकि वह धूप में भी आए, जिससे उन्हें विटामिन डी मिले और उनके बोन मजबूत हो । इस इवेंट को प्रमोट करने के लिए द राइट इंडिया टीम पर पोस्टर कॉम्पिटिशन होगी । बच्चों द्वारा बनाए गए पोस्टर्स के एग्जिबिशन लगाए जाएंगे। बच्चे शहर की दीवारों पर पेंटिंग करेंगे । इन कॉम्प्टिशंस में पच्चीस हजार के कैश रीवार्ड के साथ कई प्राइस दिए जाएंगे । स्कूलों में नून असेंबली और चैलेंज भी होगा।

ज्यादा मीठा और फ्र ाइड फू ड खाने के नुकसान

एक्सपर्ट बताते हैं कि बच्चों में ओबेसिटी भी एक चिंता का विषय है । इसके लिए आज से थोड़ा कम नाम से एक्टिविटीज भी होगी । जिसमें उन्हें हाई फैट, ज्यादा मीठा और फ ास्ट फ ूड खाने के नुकसान बताए जाएंगे। इस एक्टिविटी में बच्चों को मोटिवेट किया जाएगा ताकि वह ऐसी चीज कम मात्रा में खाएं । शहर के शिक्षकों को कहना है यह एक अच्छी पहल साबित होगी । सीबीएसई के कैंपन बच्चों से लेकर उनके पैरंट्स तक के लिए कारगर साबित होते रहे हैं । चाहे बात एजुकेशन की हो या फिर लाइफ स्टाइल की ।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned