नेशनल लेवल खिलाडिय़ों से दुराभाव: सागर में बदला सरनेम, रीवा में रोका प्रोत्साहन

शालेय क्रीड़ा विभाग: दो साल से परेशान हैं राष्ट्रीय स्तर के पदक विजेता खिलाड़ी

By: Sonelal kushwaha

Published: 11 Sep 2021, 01:52 AM IST

सतना (सोनेलाल कुशवाहा). टोक्यो ओलंपिक के बाद खिलाडिय़ों के प्रति सरकार का रवैया भले बदल गया हो, लेकिन प्रशासनिक स्तर पर अब भी दुराभाव जारी हैै। इसका उदहरण रीवा संभाग के वे 22 खिलाड़ी हैं, जिन्होंने 2019-2020 की राष्ट्रीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता में बेहरत प्रदर्शन कर पदक जीते थे। नेशनल लेवल पर गोल्ड, सिल्वर व ब्रांज मेडल जीतने वाले संभाग के करीब दो दर्जन खिलाडिय़ों को दो साल बाद भी प्रोत्साहन राशि जारी नहीं हो पाई। इसके लिए वे स्कूल से लेकर जेडी कार्यालय तक चक्कर लगा रहे हैं, कहीं से भी सटीक जवाब नहीं मिल रहा। दरअसल, राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिताओं में पदक जीतने वाले खिलाडिय़ों को स्कूल शिक्षा विभाग हर साल प्रोत्साहन राशि देता है। राष्ट्रीय खेल दिवस पर इन खिलाडिय़ों को न सिर्फ प्रोत्साहन राशि, बल्कि समारोह पूर्वक सम्मान भी किया जाता था, लेकिन रीवा संभाग के 22 खिलाडिय़ों को दो साल से न तो सम्मानित किया गया, न ही प्रोत्साहन राशि मिली।

आठ को 10-10 हजार, 10 को मिलना है 7.5 हजार
वर्ष 2019-20 की राष्ट्रीय शालेय खेल प्रतियोगिताओं में संभाग के 22 खिलाडिय़ों ने पदक जीते थे। इनमें से गोल्ड जीतने वाले आठ खिलाडिय़ों को 10-10 हजार रुपए दिए जाने हैं। जबकि, सिल्वर मेडल विजेता 10 खिलाडिय़ों को 7500-7500 रुपए और ब्रांज मेडल प्राप्त करने वाले चार खिलडिय़ों को पांच-पांच हजार रुपए दिए जाने हैं। राशि भी आवंटित हो चुकी है, लेकिन लिपिकीय त्रुटि व विभागीय लापरवाही के चलते खिलाडिय़ों तक नहीं पहुंच पा रही।

यह है पेंच
जिला शालेय क्रीड़ा अधिकारी मीना त्रिपाठी का कहना है कि प्रोत्साहन राशि के लिए जिले के आठ खिलाडिय़ों की जानकारी मांगी गई थी। हमने भेज दी है। राशि संभागीय कार्यालय से जारी होनी है। जबकि, संभागीय खेल अधिकारी आईपी तिवारी इसके लिए सागर डीईओ व वहां के शालेय क्रीड़ा अधिकारी को जिम्मेदार ठहराते हैं। बताया कि कूडो की राष्ट्रीय प्रतियोगिता सागर में हुई थी। वहां सतना के घनश्याम निषाद ने मेडल जीता था, लेकिन प्रमाण-पत्र व मेडल रीवा के घनश्याम तिवारी के नाम जारी कर दिया गया था। सागर डीईओ ने इसे टंकण त्रुटि बताते हुए संशोधन के लिए सीपीआई को पत्र लिखा था, लेकिन संशोधन नहीं हो सका।

जिलावार पदक विजेता खिलाड़ी
जिला कुल गोल्ड सिल्वर ब्रांज
सतना 09 04 04 01
रीवा 07 02 04 01
सीधी 05 02 02 01
सिंगरौली 01 00 00 00

लिपिकीय त्रुटि थी
लिपिकीय त्रुटि थी। एक से दो दिन में खाते में पहुंच जाएगी।
एसके त्रिपाठी, संयुक्त संचालक शालेय शिक्षा, रीवा

पत्र लिखा गया था
गत वर्ष नाम संशोधन के लिए पत्र लिखा गया था। कोई प्रस्ताव हमें नहीं मिला।
संजय दादर, जिला शालेय क्रीड़ा अधिकारी, सागर

Sonelal kushwaha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned