बदल रहा मौसम, हेल्थ का रखें ख्याल

- इस वक्त का मौसम किसी को भी कर सकता है बीमार

- कमजोर प्रतिरोधक क्षमता वाले रहंे सावधान

By: Jyoti Gupta

Published: 07 Mar 2019, 09:02 PM IST

सतना. पिछले एक सप्ताह से बार-बार मौसम बदल रहा है। इसका सीधा असर लोगों की सेहत पर भी पड़ रहा है। सुबह के वक्त ठंडी हवा, दिन में जबरदस्त गर्मी, शाम होते-होते हल्की बारिश और रात में फि र ठंड से लोगों को प्राब्लम हो रही है। शहर के सीनियर मेडिसिन स्पेशलिस्ट डॉ. मनोज शुक्ला का कहना है कि इस तरह का बदलता मौसम किसी को भी बीमार कर सकता है। कुछ जरूरी बातों का ध्यान रखकर शहर के लोग खुद को बिस्तर पकडऩे से बचा सकते हैं। फ रवरी का महीना खत्म हो चुका है और अब मौसम में बदलाव शुरू हो गया है। हल्की गर्मी भी महसूस होने लगी है, लेकिन बीच-बीच में ठंडी हवाएं चलने की वजह से ठंड का अहसास अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है। इस चेंजिंग वेदर में सर्दी, खांसी, बुखार, बदन दर्द, सिर दर्द, आंखों में जलन, पेट दर्द जैसी बीमारियों के शिकार लोगों की संख्या भी बढ़ रही है। एेसे में जिनकी प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है उन्हें बदलते मौसम में खुद को बचा कर रखना बेहद जरूरी है।


बाहर से आने पर तुरंत पंखा न चलाएं

शहर के डॉक्टरों का कहना है कि मौसम बदल रहा है। इसलिए सुबह-शाम ठंड तो दोपहर में गर्मी महसूस होती है। ऐसे में जो लोग दोपहर को बाहर से आते हैं वह घर आते ही पंखा चला लेते हैं, जो बदलते मौसम में बीमारी की सबसे बड़ी वजह है। इससे सर्द गर्म हो जाता है। इसके चलते कुछ देर बाद बुखार महसूस होने लगती है। इसलिए जब भी बाहर से आएं गर्मी महसूस हो तो पंखा न चलाएं। इसके अलावा इन दिनों फ्रि ज का ठंडा पानी भी नहीं पीना चाहिए।

अच्छे से करें हाथों की सफाई
सर्दी और फ्लू जैसी बीमारियों से बचने का सबसे आसान तरीका है हाथों को साफ रखना। हमारे हाथ हमेशा ही गंदे रहते हैं, क्योंकि ज्यादातर लोग अपने हाथों को सामने रखकर खांसते या छींकते हैं। डॉक्टरों की मानें तो कम से कम लोग हाथ को साफ रखते हैं। कुछ लोग तो पूरे टाइम अपनी नाक को हाथों से ही पोंछते रहते हैं। इसलिए हाथों को साबुन पानी से अच्छी तरह से धोना चाहिए। कम से कम 20 सेकंड तक हथेली, उंगली, गदेलियों का हिस्सा और नाखून के आस-पास के हिस्से को अच्छी तरह साफ करना चाहिए।


प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली चीजें खाएं

एक्सपर्ट का कहना है कि जिन लोगों को जल्दी सर्दी, जुखाम, बुखार जैसी बीमारियां जकड़ लेती है, अक्सर उन लोगों का प्रतिरोधक सिस्टम कमजोर हो जाता है। उन लोगों को प्रतिरोधक क्षमता स्ट्रांग करने वाली चीजें खानी चाहिए। ऐसे लोग चाहें तो ग्रीन टी, ब्लैक टी पी सकते हैं, लेकिन दिन में एक या दो बार ही। इसके अलावा कच्चा लहसुन, अदरक के साथ विटामिन बी और सी युक्त पदार्थ नींबू और आंवले का सेवन कर सकते हैं।

मौसमी फल और सब्जियों का करें सेवन
डाइटीशियन राजनिधि सिंह का कहना है कि बदलते मौसम में फ ल और सब्जियों का ज्यादा सेवन करना चाहिए। खासतौर पर हरी सब्जियों का। गाजर, मूली, टमाटर जैसी सब्जियां अधिक मात्रा में लेनी चाहिए। क्योंकि इनमें एंटीऑक्सीडेंट तत्व होते हैं, जो शरीर में जमे विषैले तत्वों को बाहर निकालने में मदद करते हैं। साथ ही फ लों में भी सेहत का राज छिपा होता है, जो बॉडी को फ्रे श रखता है और शरीर को बीमारियों से बचाता है ।


मौसम के अनुसार हो खानपान

बीमारियों से बचने में खानपान का अहम रोल होता है। बदलते मौसम में खानपान में बदलाव करना जरूरी है। डॉक्टरों का कहना है कि अक्सर बदलते मौसम में मूड स्विंग हो ज्यादा होता है। ऐसे में खाने में कार्बोहाइड्रेट ज्यादा लेना चाहिए। यह हमें मूड स्विंग और डिप्रेशन से दूर रखता है। दिल और दिमाग को अच्छा महसूस होता है। अंडे का सफेद वाला हिस्सा, टमाटर, चावल, गेहूं और ड्राईफ्रूट्स का सेवन करें। इसमें कार्बोहाइड्रेट अधिक होता है।


इंफेक्शन से बचाएं खुद को
अगर आपकी तबीयत खराब है तो आप घर पर ही रह कर आराम करें। या फि र कुछ दिनों के लिए वर्क होम कर लें ताकि बाकी लोग बीमार पडऩे से बच जाएं। इसके अलावा अगर आप चेजिंग वेदर में इंफेक्शन से बचना चाहते हैं, तो भीड़ भाड़ वाले इलाके में न जाएं। अगर कोई व्यक्ति पहले से सर्दी जुकाम या बुखार से पीडि़त है तो उससे हाथ न मिलाएं न ही गले मिलें। एेसे लोगों से कुछ दिनों के लिए दूरी बनाकर रहें।


- बदलते मौसम में खान-पान का अहम रोल रहता है। यदि खान-पान मौसम के अनुसार हो तो कई बीमारियों से बचा जा सकता है। मौसमी फल और सब्जियों को खाएं। विटामिन सी और डी युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करें।

डॉ. जीएस तिवारी, डाइट एक्सपर्ट, जिला अस्पताल

- आए दिन मौसम में बदलाव देखने को मिल रहा है। इसके चलते शहरवासियों को सर्दी, खांसी और बुखार की समस्या से परेशान होना पड़ रहा है। छोटी-छोटी बातों का ध्यान रख कर ही खुद को सुरक्षित रखा जा सकता है।
डॉ. मनोज शुक्ला, सीनियर मेडिसिन स्पेशलिस्ट

- इस मौसम में इंफेक्शन से खुद को बचाना चाहिए। सर्दी, जुखाम, बुखार वाले लोगों से दूरी बना कर चलें। साफ-सफाई का ध्यान रखें। भीड़ वाले इलाके में जाने से बचें। जब भी बाहर निकलें तो मास्क पहनें।

डॉ. अखिलेश सिंह, एमओ

Jyoti Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned