अध्यक्ष के गुमशुदगी के पोस्टर .. ‘प्राची जी, आप जहां भी हो आ जाओ, कोई कुछ नहीं कहेगा’

चित्रकूट विधायक की बहन हैं नपं अध्यक्ष, कांग्रेस ने बताया ओछी राजनीति

By: राजीव जैन

Published: 24 May 2018, 07:47 PM IST

सतना. ‘‘गुमशुदा की तलाश... नाम प्राची चतुर्वेदी, अध्यक्ष नगर पंचायत चित्रकूट। विगत 9 महीने से चित्रकूट से लापता हैं। जिस किसी सज्जन को मिलें, कृपया चित्रकूट भेजने की कृपा करें। प्राची चतुर्वेदी जी, आप जहां कहीं भी हो चित्रकूट वापस आ जाओ। तुम्हें कोई कुछ नहीं कहेगा। निवेदक चित्रकूट नगर पंचायत की जनता...।’’ नपं अध्यक्ष प्राची चतुर्वेदी के गुमशुदा होने के कुछ ऐसे ही पोस्टर बुधवार को चित्रकूट में लगे मिले। सुबह पोस्टर देखते ही सियासत शुरू हो गई। नगर पंचायत अध्यक्ष चतुर्वेदी चित्रकूट विधायक नीलांशु चतुर्वेदी की बहन हैं। प्राची को ९ माह से चित्रकूट से लापता बताने वाले पोस्टर आम जनमानस में चर्चा का विषय बने रहे। पोस्टर पर प्रिंटर के रूप में जिस फर्म का नाम लिखा है, वह भी फर्जी बताया जा रहा है। संबंधित प्रिंटर के अनुसार वह फ्लैक्स का काम करता है।

कांग्रेस ने बताया ओछी राजनीति
पोस्टर को लेकर चित्रकूट नगर पंचायत का राजनीतिक माहौल गरम हो गया है। भाजपा ने इसे जनता की स्वाभाविक प्रतिक्रिया बताया। कहा, लंबे समय से जनप्रतिनिधि का गायब रहना जनता को परेशानी में डाल रखा होगा। लोगों को जरूरी काम अटका होगा। इसलिए यह तरीका अख्तियार किया गया है। कांग्रेस ने इसे विरोधी दलों की ओछी राजनीति बताया है।

 

Prachi Charturvedi
Patrika IMAGE CREDIT: patrika

मातृत्व अवकाश पर अध्यक्ष
नपं अध्यक्ष प्राची चतुर्वेदी कहती हैं, वो मातृत्व अवकाश पर हैं। उनके बच्चे की तबीयत खराब है। उसका उपचार बेंगलूरु और भोपाल में चल रहा है। इस कारण मैं भोपाल में हूं। विगत कुछ माह से ऐसी स्थिति बनी है कि मैं नगर पंचायत चित्रकूट का कार्य सतत रूप से नहीं देख पा रही। लेकिन, यह भी रेकार्ड है कि शुरुआती ढाई साल तक मैंने एक दिन भी अवकाश नहीं लिया। हर रोज नपं कार्यालय में उपस्थित रहती थी। तब किसी ने भी अच्छे कार्य के पोस्टर नहीं चपकवाए। पोस्टर चस्पा कराकर विरोधी ओछी राजनीति कर रहे हैं।

 

प्रिंटर ने कहा-मेरे खिलाफ साजिश
पोस्टर पर नीचे प्रिंटर के रूप में कृष्णा एण्ड कंपनी का नाम लिखा गया है। उसके संचालक मनीष अग्रवाल ने कहा कि वे कागज के पोस्टर का काम ही नहीं करते हैं। उनका फ्लैक्स का काम है। किसी ने मेरे खिलाफ साजिश की है। मेरे प्रिंटर का नाम डालकर पोस्टर छपवाए गए हैं। सुबह से कई धमकी भरे फोन आ चुके हैं। इसको लेकर हमारा परिवार खुद दहशत में है।

 

राजीव जैन
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned