कांग्रेसी पार्षद से विवाद के दूसरे दिन ही मैहर सीएमओ का ट्रांसफर, पढ़ें रसूखदार नेता की अजब कहानी

ट्रांसफर पर उठे गंभीर सवाल

By: suresh mishra

Published: 03 Mar 2019, 12:45 PM IST

सतना। इन दिनों नगर पालिका परिषद मैहर राजनीतिक दाव-पेंच का अखाड़ा बना हुआ है। जनप्रतिनिधियों की संतुष्टि के लिए पूरे निकाय को विवाद में घेरा जा रहा है। स्थिति ये है कि कांग्रेसी पार्षद के विवाद के बाद मैहर सीएमओ का दो दिन के अंदर ट्रांसफर कर दिया गया। जिसके बाद ये ट्रांसफर सवालों के घेरे में आ गया है। हालांकि, सीधे तौर पर सीएमओ मामले से जुड़ी नहीं थी। उसके बावजूद माना जा रहा था कि उनके इशारे पर नगर परिषद के कर्मचारी ने शिकायत की थी। इसके चलते कांग्रेसी पार्षद के खिलाफ मामला कायम किया गया था।

कमला कोल का ट्रांसफर मऊगंज

अब मैहर सीएमओ कमला कोल का ट्रांसफर मऊगंज कर दिया गया है। इस संबंध में नगरीय प्रशासन ने आदेश जारी कर दिया है। मैहर के नए सीएमओ हरीमित्र श्रीवास्तव को बनाया गया है। जो पहले भी मैहर में रह चुके हैं। दरअसल, मैहर के वार्ड 2 के पार्षद जय प्रकाश वर्मा गत गुरुवार शाम करीब साढ़े 4 बजे नगर पालिक परिषद कार्यालय पहुंचे थे।

अभ्रद शब्दों का उपयोग किया

जहां अधिकारी, कर्मचारी, अध्यक्ष को गाली देते हुए उसने सीएमओ के लिए भी अभ्रद शब्दों का उपयोग किया। इस बीच उन्होंने कार्यालय में तोडफ़ोड़ करने लगा और फिर उसने शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाते हुए नस्ती व आश्वयक पत्रों को फाड़ दिया। इसके बाद नगर परिषद के कर्मचारी सहायक ग्रेड-3 दयाराम शुक्ला (49) ने मैहर थाने में शिकायत की थी।

1984 की धारा 3 के तहत प्रकरण दर्ज

जिसके बाद पुलिस ने आइपीसी की धारा 294, 332, 353, 186, 427 व प्रिवेंशन ऑफ डेमेज टू पब्लिक प्रॉपर्टी एक्ट 1984 की धारा 3 के तहत प्रकरण दर्ज किया था। साथ ही आरोपी पार्षद को हिरासत में ले लिया था। लेकिन शुक्रवार को राजनीति दबाव में पुलिस ने पार्षद को छोड़ दिया। अब शनिवार को सीएमओ कमला कोल का ट्रांसफर आर्डर भी आ गया। जिसे पूरे मामले से जोड़कर देखा जा रहा है।

suresh mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned