बादल देख चढ़ा पारा, फिर कंपकंपाई ठंड, पढ़ें पूरे मध्य भारत में ठंड का प्रकोप

मौसम: दिन और रात के तापमान में वृद्धि से गलन भरी सर्दी से राहत

By: suresh mishra

Published: 07 Jan 2019, 04:23 PM IST

सतना। पश्चिमी विक्षोभ के असर से दिन और रात के तापमान में बढ़ोतरी होने से दो दिन के लिए लोगों को ठंड से कुछ राहत मिली है। लेकिन, यह राहत जल्द ही कंपकंपी में बदलने वाली है। जम्मू कश्मीर में चार दिन से हो रही बर्फबारी और उत्तर भारत में हो रही मावठे की बारिश के कारण सोमवार से मैदानी क्षेत्रों में ठंड का प्रकोप बढ़ेगा। उत्तरी हवाओं के कारण दिन और रात के तापमान में गिरावट से रात ही नहीं दिन में भी लोगों को कंपकंपा देेने वाली ठंड का सामना करना पड़ सकता है।

आसमान पर छाए बादलों के कारण दिन और रात के तापमान में रेकॉर्ड वृद्धि दर्ज की गई। इससे दिन में ठंड गायब रही। हालांकि रात में सर्दी का असर बरकार है। रविवार को अधिकतम तापमान 27.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से चार डिसे अधिक रहा। न्यूनतम तापमान भी उछलकर 11.4 डिसे पर पहुंच गया, जो सामान्य से तीन डिसे अधिक था। बीते एक माह में पहली बार दिन और रात के तापमान सामान्य से अधिक दर्ज होने के कारण पहली बार लोगों को कड़ाके की ठंड से राहत मिली।

मावठे की बूंदाबांदी से बढ़ेगी धुंध
इस वर्ष अभी तक मौसम में नमी कम होने के कारण लोगों को सूखी ठंड की मार झेलनी पड़ी है। लेकिन दो दिन से बिगड़े मौसम के मिजाज के कारण आसमान में बादलों की चाल बढ़ गई है। विक्षोभ के प्रवास के कारण रविवार की रात जिले में कुछ स्थानों पर मावठे की पहली बौछारें पड़ीं। इससे वातावरण में नमी की मात्रा अचानक बढ़ गई है। इससे मौसम खुलते ही कोहरा छाने की संभावना है। अगले दो तीन दिनों में रात में धुंंध बढ़ेगी। इससे लोगों को दिन में भी गलन भरी ठंड का सामना करना पड़ सकता है।

कोठी और जैतवारा में गिरे ओले
रविवार की शाम अचानक मौसम का मिजाज बदला और जिले में कुछ स्थानों पर बूंदाबांदी हुई। कोठी एवं जैतवारा क्षेत्र में लगभग 15 मिनट तक मावठे की पहली बारिश दर्ज की गई। बारिश की बूंदों के साथ क्षेत्र में ओलावृष्टि भी हुई।

suresh mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned