Crime News: पांच बेटे व एक बेटी ने मां को घर से निकाला, एसपी ने आप बीती सुनी तो साथ लेकर पहुंच गए घर

वृद्धा की फरियाद पर भावुक हुए एसपी: बजरहा टोली निवासी मां रामवती प्रजापति ने सुनाई। यह सुनकर एसपी सन्न रह गए।

By: suresh mishra

Updated: 05 Sep 2019, 12:37 PM IST

सतना। ( Satna SP ) साहब! मेरे 5 बेटे और एक बेटी है। पति का देहांत हो गया है। दो बेटों की शादी हो गई है। लेकिन, कोई मुझे रखना नहीं चाहता। इन्होंने मुझे घर से निकाल दिया है। किसी तरह भीख मांग कर गुजारा कर रही हूं। कुछ ऐसी दर्द भरी कहानी अपने बेटों की सताई बजरहा टोली निवासी मां रामवती प्रजापति ने सुनाई। यह सुनकर ( Satna SP Riyaz Iqbal ) एसपी सन्न रह गए। इतने भरे पूरे परिवार में मां को दो जून की रोटी और रहने को छत नहीं मिलने को उन्होंने गंभीरता से लिया। अचानक ही उठे और रामवती को कहा, चलो मां आज और अभी तुम्हें घर छोड़ कर आते हैं और बेटों को बताते हैं मां की अहमियत।

एसपी ने बेटों की जमकर क्लास ली

फिर क्या था... कुछ ही देर में मां एसपी के साथ वाहन में सवार नजर आई और पहुंच गई अपने घर। एसपी ( Riyaz Iqbal ) ने यहां बेटों की जमकर क्लास ली और कहा कि अब मां अगर बाहर मिली तो खैर नहीं। मामला कुछ ऐसा था कि एक वृद्धा एसपी कार्यालय में भटक रही थी। कोशिश थी कि किसी तरह से एसपी से मुलाकात हो जाए। डरते-ठिठकते एसपी के दरबान के पास पहुंची। मिलने की बात कही। संदेशा अंदर पहुंचा और एसपी का बुलावा आ गया। दरवाजा खोला गया... मां डरी सहमी एसपी के सामने खड़ी थी। बोलना तो बहुत चाह रही थी लेकिन सहज बोल नहीं फूट रहे थे।

चलो अम्मा, तुमको घर छोड़कर आते हैं

एसपी ने ढाढ़स बंधाया और कहा कि डरो मत पूरी बात कहो। डबडबाई आंखों से मां ने बताना शुरू किया। कहा, मेरा नाम रामवती है। पति हरिशंकर प्रजापति का निधन हो गया है और बजरहा टोला में रहती है। मेरे पांच बेटे है और दो की शादी हो चुकी है और बहुए आ गई हैं। बेटी की भी शादी हो गई है। सभी हमेशा मुझसे झगड़ते हैं और बहुएं तो मारने दौड़ती है। मिलकर सभी ने घर से निकाल दिया है। अब भीख मांग कर गुजारा कर रही हूं। यह सुनकर एसपी रियाज इकबाल ने मां के चेहरे की ओर देखा फिर अचानक उठ खड़े हुए और कहा कि चलो अम्मा, तुमको घर छोड़कर आते हैं। एसपी रामवती को लेकर बाहर आए। अपने साथ वाले वाहन में बैठाया और निकल पड़े रामवती के घर।

बेटों की अलग सफाई
जब एसपी रामवती को लेकर घर पहुंचे तो पुलिस के मुखिया को देखकर बेटों की सिट्टी पिट्टी गुम हो गई। एसपी ने पहले तो जमकर फटकार लगाई। बाद में बेटों ने सफाई दी कि मां खुद परेशान करती हैं। बिना बताए भाग जाती है। घर में सभी से लड़ती है। तब एसपी ने कहा कि मां कितनी भी बुरी हो लेकिन मां ही होती है। अभी जैसा तुम लोग उसके साथ करोगे वैसा व्यवहार तुम्हारे बेटे तुम्हारे साथ करेंगे। बहुओं को भी समझाया। फिर अंत में कहा कि अब अगर मां को बाहर किए तो आप लोगों की खैर नहीं। इस पर बेटों ने आश्वस्त किया कि अब मां को सुकून से रखेंगे।

Show More
suresh mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned