जिला पंचायत सीईओ ने दिखाया रौद्र रूप, लापरवाह पीसीओ निलंबित, सचिव का रोका वेतन

जिपं सीईओ ने की कार्रवाई: कई सचिवों का वेतन रोकने के निर्देश, विश्राम सतनामी पीसीओ को निलंबित करने के दिए आदेश, दो बजे पहुंचने पर करो निलंबित

सतना/ मैहर जनपद के दो सेक्टर घुनवारा और झुकेही की 25 पंचायतों की बैठक सभागंज पंचायत भवन में जिपं सीईओ ऋजु बाफना ने ली। कामकाज में गति नहीं आने के जब कारण पूछे गए तो विश्राम सतनामी पीसीओ के सतना से अप डाउन करने की जानकारी सामने आई।

यह पता चलते ही जिपं सीईओ ने विश्राम सतनामी को निलंबित करने के निर्देश दिए। कहा कि जब स्पष्ट निर्देश है कि अमला अपने मुख्यालय में रहे लेकिन इस तरह की ढिलाई हो रही है जो स्वीकार्य नहीं है। इसी तरह से कार्यों की जानकारी न रखने वाले कई सचिव और जीआरएस का वेतन रोकने के निर्देश दिए। इस दौरान परियोजना अधिकारी गौरव शर्मा भी मौजूद रहे।

जिपं सीईओ ने घुनवारा में दो सेक्टरों की लगभग 25 पंचायतों की समीक्षा बैठक लीं। पंचायतवार योजनावार विकास कार्यों की समीक्षा के दौरान पीसीओ विश्राम सतनामी से जानकारी ली गई तो उन्हें न तो कामों की जानकारी थी और न ही लक्ष्य पता थे। जब उनसे इस संबंध में और पूछा गया तो स्वयं ही बताने लगे कि वे सतना से 11 बजे चलते हैं और यहां पहुंचने में एक बज जाते हैं। लिहाजा समयाभाव के कारण जानकारी एकत्र नहीं हो पाती है। इस पर संबंधित को निलंबित करने के निर्देश दिए गए।

आवास की राशि इलाज में खर्च
बैठक में पुराने आवासों के निर्माण कार्यों की समीक्षा के दौरान यह जानकारी सामने आई कि घुनवारा के एक हितग्राही ने आवास की राशि निकाल कर इलाज में खर्च कर ली। सचिव ने इस पर ध्यान नहीं दिया। लिहाजा सचिव सुरेश दाहिया को १५ दिन का वेतन काटने और निलंबित करने कहा। कुठिलगवां के सचिव और जीआरएस की प्रगति काफी कमजोर होने व कार्य में रुचि नहीं लेने पर पांच दिन का वेतन काटने कहा गया।

कार्य में सामंजस्य नहीं
पीसीओ सभागंज की कार्यशैली के कारण कार्यों में सामंजस्य नहीं बनने व आवास योजना की प्रगति धीमी मिली। एक वेतन वृद्धि असंचयी प्रभाव से रोकने व १५ दिन का वेतन काटने के निर्देश दिए गए। खंड पंचायत अधिकारी (बीपीओ) को लापरवाह कार्यशैली के कारण नोटिस जारी किया गया।

तालाब पूरा होने तक वेतन नहीं
कुसेड़ी ग्राम पंचायत में तालाब निर्माण का कार्य काफी धीमा मिला। इस पर जिपं सीईओ ने सचिव जीआरएस की वेतन रोकने के निर्देश दिए और कहा कि जब तक निर्माण पूरा नहीं हो जाए वेतन जारी न किया जाए। मनरेगा के काम काफी संख्या में अधूरे होने पर तिघरा खुर्द के सचिव जीआरएस का वेतन रोकने कहा गया। आंगनबाड़ी भवन अधूरा होने पर सरपंच सचिव की पेशी तय की गई।

हर सरकारी भवन में वाटर हार्वेस्टिंग
जिपं सीईओ ने बैठक में कहा कि जितने भी सरकारी भवन बनाए जा रहे हैं सभी में वाटर हार्वेस्टिंग का काम अनिवार्य रूप से किया जाए। जब तक यह काम नहीं होता है तब तक कार्य पूर्णता प्रमाण पत्र जारी नहीं किया जाए। जल संरक्षण के काम ज्यादा से ज्यादा लेने और नये तालाब के काम प्रारंभ कराने के निर्देश दिए। मैहर पहाड़ी क्षेत्र होने से यहां जल संरक्षण के कार्यों में ज्यादा गंभीरता से काम करने के निर्देश दिए गए।

Show More
suresh mishra
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned