सती अनुसुइया का होगा कायाकल्प, रिवर व्यू साइड का हटाया जाएगा अवैध कब्जा

सती अनुसुइया का होगा कायाकल्प, रिवर व्यू साइड का हटाया जाएगा अवैध कब्जा

Ramashankar Sharma | Publish: May, 18 2019 01:08:03 AM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

कलेक्टर ने मिनी स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट अधिकारियों के साथ किया निरीक्षण

सड़क खोद कर रेस्टोरेशन नहीं करने वाले ठेकेदार को लगाई फटकार

सतना. चित्रकूट के सती अनुसुइया क्षेत्र के विकास और सौंदर्यीकरण को लेकर मंदाकिनी नदी की ओर के निर्माण को हटा कर रिवर व्यू साइड खोला जाएगा। साथ ही पहाड़ की ओर यहां 100 दुकानें बनाई जाएंगी। यह निर्णय गुरुवार को कलेक्टर ने अपने निरीक्षण के बाद लिया। इस संबंध में आवश्यक कार्यवाही प्रारंभ करने के निर्देश सीएमओ चित्रकूट रमाकांत शुक्ला सहित मिनी स्मार्ट सिटी के अधिकारियों को दिए। कलेक्टर सतेन्द्र सिंह ने सीवर लाइन का काम कर रहे ठेकेदार द्वारा खुदाई के बाद रेस्टोरेशन के काम में लापरवाही बरतने के मामले में जमकर फटकार लगाई गई। इस दौरान एमपीयूडीसीएल के डीपीडी वीके तिवारी, प्रोजेक्ट मैनेजर एके नंदा, एसडीएम ओम नारायण सिंह मौजूद रहे।
सती अनुसुइया पहुंचे कलेक्टर ने यहां के परमहंस आश्रम के महंत चिरानंद स्वामी से मुलाकात कर विकास और सौंदर्यीकरण के संबंध में चर्चा की। इसके साथ ही स्थल का मौका मुआयना किया। उन्होंने पाया कि मंदाकिनी नदी की यहां निर्मल जलधारा है साथ ही यहां का प्राकृतिक सौंदर्य दर्शनीय है लेकिन नदी की ओर काफी संख्या में निर्माण और दुकानें खुल जाने के कारण यहां आने वाले श्रद्धालु और पर्यटक इस प्राकृतिक सौंदर्य का आनंद उठाने से वंचित रह जाते हैं। कलेक्टर ने कहा कि नदी साइड का निर्माण हटाया जाकर इसे व्यू प्वाइंट बनाएं ताकि लोग इस नजारे का आनंद ले सकें। इसके साथ ही यहां रोजगार की संभावनाओं के मद्देनजर पहाड़ की ओर 100 दुकानें बनाई जाएं। सीएमओ को स्पष्ट किया गया कि यह ध्यान रखा जाए कि रिवर व्यू साइड में निर्माण न होने पाए।

खोले जाएंगे प्राकृतिक जल स्रोत
इस दौरान कलेक्टर ने मंदाकिनी नदी के घाट का अवलोकन किया। यहां के प्राकृतिक जल स्रोत विभिन्न निर्माण कार्यों की वजह से या फिर प्राकृतिक क्षरण आदि के कारण बंद हो चुके हैं। इन्हें खोलने के लिए सीएमओ चित्रकूट को इस दिशा में काम करने के निर्देश दिए। कहा कि पोकलेन मशीन लगाकर यहां के प्राकृतिक जल स्रोत खोले जाएं।

बनेंगे शेड और टायलेट
मुख्य मार्ग से सती अनुसुइया के बीच 5 किलोमीटर के रास्ते में यात्रियों की सुरक्षा और बारिश आदि में ठहरने के लिए शेड बनाए जाएंगे। सती अनुसुइया रोड में एक शेड तथा मुख्य मार्ग में एक शेड बनाया जाएगा। साथ ही सती अनुसुइया क्षेत्र में एक टायलेट बनाया जाएगा। इसका साइनेज भी बनाने के निर्देश दिए गए। इस दौरान यहां की रोड का चौड़ीकरण व साफ सफाई व्यवस्था दुरुस्त करने के निर्देश दिए गए। घाट में चेंजिंग रूम बनाने एवं घाट के क्षतिग्रस्त हिस्सों को दुरुस्त करने को कलेक्टर ने कहा।

रजौला बायपास का काम प्रारंभ करने के निर्देश
रजौला बायपास में मेला के दौरान आने वाली भीड़ को किसी परेशानी न हो इसके लिए यहां रोड का निर्माण शीघ्र बनाने के निर्देश दिए। कहा गया कि अभी साढ़े पांच मीटर चौड़ी रोड बनाने का कार्य प्रारंभ करें। इसकी अतिरिक्त चौड़ाई का काम बाद में किए जाने का प्लान बनाने कहा। इस सड़क को 15 मीटर चौड़ा करने 12 करोड़ के ऊपर का एस्टीमेट आने की बात कही गई। इसके अलावा तुलसी मार्ग से अक्षय वट तक लगभग एक किलोमीटर सीसी सड़क बनाने के निर्देश दिए गए। बताया गया कि सती अनुसुइया मार्ग पहले सीसी बनना था लेकिन अब यह काम प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना से बन रहा है। ऐसे में शेष राशि का काम यहां किया जाएगा।

बस स्टैंड के निर्माणाधीन कार्य देखे
कलेक्टर ने बस स्टैंड के निर्माण कार्यों को भी देखा। बस स्टैंड में चल रहे निर्माण कार्यों की धीमी गति में तेजी लाने और गुणवत्तापूर्ण कार्य करने के निर्देश दिए।

होंगे 100 करोड़ रुपए के काम
स्थल निरीक्षण के बाद कलेक्टर ने मंदाकिनी रिसोर्ट में मिनी स्मार्ट सिटी के अधिकारियों की बैठक ली। इस दौरान बताया गया कि यहां 100 करोड़ रुपए के विभिन्न कार्य प्रस्तावित हैं या चल रहे हैं। इस दौरान सीवर लाइन प्रोजेक्ट के घटिया निर्माण को इंगित करते हुए इसे तत्काल व्यवस्थित करने के निर्देश दिए गए। परिक्रमा पथ पर 20 शेडों के निर्माण का कार्य तत्काल प्रारंभ करने के निर्देश दिए। प्रमोद वन में सीवर जंक्शन के काम में रीवा कलेक्टर से चर्चा कर जमीन उपलब्धता विवाद का निराकरण किया और तत्काल काम प्रारंभ करने के निर्देश दिए। कहा जहां भी कार्य चल रहे हैं वहां तय मापदण्डों के तहत डिस्प्ले बोर्ड लगाया जाए। समय सीमा पर सभी काम पूरे किए जाएं।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned