माक्र्स पाने की होड़ में स्टूडेंट्स खुद को न कर लें बीमार

माक्र्स पाने की होड़ में स्टूडेंट्स खुद को न कर लें बीमार
Do not make yourself sick by competing in a Marks race

Jyoti Gupta | Publish: Feb, 13 2019 09:07:45 PM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

एग्जाम नजदीक आते ही स्टूडेंट्स ने बढ़ाई सिटिंग, कमर दर्द की बढ़ रही प्राब्लम

 

 

सतना. स्टूडेंट्स के बीच अच्छे माक्र्स पाने के लिए होड़ बढ़ चुकी है। दसवीं और बारहवीं ही नहीं, अब तो कॉलेज गोइंग स्टूडेंट्स के एग्जाम नजदीक आ रहे हैं। एेसे में वे लगातार बैठकर 8 से 10 घंटे तक पढ़ाई कर रहे हैं। डॉक्टर का कहना है कि फि जिकली एक्टिविटी न करने की वजह से उनकी कमर में दर्द उठ रहा है। स्टूडेंट्स सोचते हैं कि अगर हार्ड वर्क करेंगे तो शायद थक जाएंगे, इसलिए उन्हें नींद आएगी। ऐसे में वे सिर्फ एक जगह पर बैठकर पूरा ध्यान किताबों में ही लगाना चाहते हैं। इस दर्द से स्टूडेंट्स ही नहीं प्राइवेट कंपनियों में ऑफि स वर्क करने वाले एम्पलाई भी परेशान हैं। दर्द से निजात पाने के लिए विशेषज्ञ से संपर्क करने से पूर्व वे अपने स्तर पर मेडिसिन पी लेते हैं। यह स्थिति दर्द से भी खतरनाक है।

लंबी सिटिंग से बचें

हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. हरि अग्रवाल का कहना है कि लंबी सिटिंग कमर ही नहीं गर्दन के लिए काफ ी खतरनाक है। स्टूडेंट्स ही नहीं प्राइवेट कंपनियों में काम करने वाले कर्मचारी भी अपनी जगह से उठ कर हाथ पैरों को मूवमेंट दें। ऐसा वे हर 1 घंटे में करें। मानसिक स्पर्धा वर्तमान में काफ ी है फि र भी सेहत के हित में यह कदम उठाना अनिवार्य है। लंबीं सिटिंग का कमर ही नहीं बॉडी के दूसरे हिस्सों पर असर पड़ता है ।

इस तरह प्रभावित होते हैं बॉडी के दूसरे पार्ट
आंखें: पढ़ाई करने से आंखों की मसल्स पर असर पड़ता है। इससे नजर कमजोर होने की संभावना बढ़ जाती है।

यह करें- हर आधे घंटे में 5 मिनट के लिए आंखें बंद करें।

हार्ट: फि जिकल एक्टिविटी न होने से हार्ट के काम करने की स्पीड कम हो जाती है ।
यह कर सकते हैं- चेयर पर बैठे बैठे हाथ पैरों को मूवमेंट देते रहें।

रीढ़ की हड्डी: लंबे समय तक बैठ कर पढऩे या फिर काम करने से रीढ़ की हड्डी में गैप आ जाता है। ऐसा होता है तो दर्द होता है जो धीरे धीरे पूरी बॉडी में फैल जाता है।

यह करें- अधिक समय तक बैठे नहीं। हर एक घंटे में उठकर मूवमेंट करें।

घुटना: सिटिंग से घुटनों की मसल्स में होने वाला ब्लड सरकुलेशन कमजोर हो जाता है।

यह करें- हर 15 मिनट में घुटनों का मूवमेंट करें ।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned