एग्जाम के दौरान बच्चों को दे कंफर्ट जोन

एग्जाम के दौरान बच्चों को दे कंफर्ट जोन
During the Examination, give the children the Conflict Zone

Jyoti Gupta | Publish: Jan, 27 2019 09:44:08 PM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

पैरेंट्स को रखना होगा बच्चों का पूरा ख्याल

सतना. बच्चों की परीक्षा माता- पिता की भी परीक्षा की तरह होती है। एक तरफ बच्चे पर पढ़ाई का दबाव तो दूसरी तरफ उसके स्वास्थ्य की चिंता। कई बार माता पिता भी अपने बच्चों पर पढऩे और अच्छे नंबर लाने का दबाव बनाते हैं। ऐसे में बच्चा और अधिक दबाव में आने लगता है। कई बार इस तरह के दबाव को हैंडल न कर पाने की वजह से बच्चा मानसिक रूप से परेशान रहने लगता है। वह तनाव में रहने लगता है । नींद उड़ जाती है और अवसाद के लक्षण दिखाई देने लगते हैं। बच्चों की चिंता और तनाव के कारण कई बच्चों को एग्जाम फ ोबिया भी हो सकता है जबकि ऐसी स्थिति में बच्चों को टेंशन फ्री रखना काफ ी जरूरी है। अगर आपके बच्चे के भी एग्जाम नजदीक आ गए हैं और वह भी आपको तनावग्रस्त दिख रहे हैं तो बच्चे का विशेष ध्यान रखें। शहर के काउंसलर का कहना है कि इस समय पैरेंट्स को बच्चों का पूरा ख्याल रखना होगा। उनके खाने पीने से लेकर रिलैक्स तक का। तभी बच्चे टेंशन फ्री रहकर एग्जाम दे पाएंगे।

रखें डाइट का विशेष ध्यान

एग्जाम के समय बच्चे की डाइट का विशेष ख्याल रखें। क्योंकि एग्जाम के समय बच्चा खाना पीना छोड़ कर केवल पढ़ाई में भी ध्यान देते हैं। कई बच्चे तो खाना इसलिए भी छोड़ देते हैं कि खाने से नींद आती है, लेकिन खाना छोडऩे में शरीर में कमजोरी आ जाती है। जिससे पढ़ाई में मन नहीं लगता है। बच्चों को पूरी नींद और हल्के खाने के लिए प्रेरित करें। इनसे बचने के लिए बच्चों को खाने में खूब सारे फ ल खिलाएं इससे उन्हें नींद नहीं आएगी और एकग्रता बढ़ेगी। थोड़ा- थोड़ा खाने के लिए देती रहें।

दबाव न डालें

बच्चों पर पढऩे के लिए दबाव न डालें। अच्छे माक्र्स मायने रखते हैं लेकिन अच्छे माक्र्स हमेशा बच्चे की बुद्धिमानी को परिभाषित करें यह जरूरी नहीं है। इसलिए पढऩे के दौरान उन्हें कुछ ऐसी एक्टिविटी भी करवाएं जिनसे उनका पढ़ाई से ध्यान न भटके और उनका माइंड भी फ्रे श हो जाए। जैसे रंग करना। इससे आपके बच्चे को पढ़ाई से थोड़ा ब्रेक मिलेगा और वह दोबारा फि र अच्छे से पढ़ाई शुरू कर पाएगा।

मसाज करें

एग्जाम के दौरान बच्चों में अच्छे नंबर लाने का टेंशन भी होता है। चाहे माता पिता फ ोर्स करें या न करें। ऐसे में बच्चों में पढऩे के दौरान अच्छे नंबर लाने की भी टेंशन बनी रहती है । ऐसे में पढ़ाई के साथ बच्चों में एक तरह का दबाव भी रहता है जिसके कारण अक्सर बच्चे को सिर दर्द की शिकायत होती है । ऐसी स्थिति में बच्चे के सिर की मसाज करें। उसे रिलैक्स होने में मदद मिलेगी ।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned