लाखों की संपत्ति, हजारों की कमाई फिर भी टैक्स से परहेज, निगमायुक्त ने कहा-लगाओ ताला

शहर के दो बड़े बकायादारों पर कार्रवाई, दुकानों में जड़ा ताला

सतना. शहर की जनता को सड़क-बिजली और पानी चाहिए, लेकिन टैक्स कोई नहीं देना चाहता। शहर में एेसे कर बकायादारों की भरमार है, जिनके शहर में आलीशान मकान एवं दुकान है। इन्हें किराए पर देकर वे हर साल लाखों रुपए कमा रहे हैं, लेकिन संपित्तकर का भुगतान आज तक नहीं किया। वर्षों से टैक्स जमा नहीं करने वाले संपत्तिकर के बड़े बकायादारों को चिह्नित कर उनकी संपत्ति सील करने के निर्देश निगमायुक्त अमनवीर सिंह ने संपत्तिकर शाखा के अधिकारियों को दिए हैं।

निगमायुक्त के निर्देश पर राजस्व प्रभारी नीलम तिवारी दल-बल के साथ शुक्रवार को राजेन्द्र नगर पहुंचे। पहली कार्रवाई राजेन्द्र नगर वार्ड २७ निवासी राजेश्वरी वर्मा पत्नी हीरालाल वर्मा की दुकान में की गई। राजेश्वरी वर्मा पर 695197 रुपए संपत्तिकर बकाया है। संपत्तिकर शाखा के अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर दुकान मालिक से बकाया टैक्स जमा करने को कहा लेकिन दुकानदार ने भुगतान नहीं किया। संपत्तिकर का भुगतान न होने के कारण सहायक आयुक्त ने दुकान में तालाबंदी करा दी। इसी प्रकार वार्ड 26 राजेन्द्र नगर निवासी रामेश्वर प्रताप सिंह पर 617883 रुपए संपत्तिकर राशि बकाया है। बार-बार नोटिस देने के बाद भी राशि जमा नहीं करने पर तालाबंदी करते दुकान सीज कर दी गई।

वसूली का दबाव
वित्तीय वर्ष 2019-20 समाप्त होने में महज डेढ़ माह का समय और बचा है, लेकिन संपत्तिकर वसूली का लक्ष्य 50 फीसदी भी पूरा नहीं हो पाया। मामले को गंभीरता से लेते हुए निगमायुक्त ने राजस्व प्रभारी एवं संपत्तिकर शाखा के अधिकारियोंं को बड़े बकायादारों की सूची बनाकर त्वरित कार्रवाई के निर्देश दिए।

Sukhendra Mishra Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned