आखिरकार वन क्षेत्र में अतिक्रमणकारियों पर चला कानून का डंडा

-वर्षों से चल रहा वन क्षेत्र की भूमि पर कब्जे का खेल

By: Ajay Chaturvedi

Published: 05 Sep 2020, 02:22 PM IST

सतना. आखिरकार वन क्षेत्र की भूमि पर अतिक्रमण करने वालों पर कानून का डंडा चल ही गया। परिक्षेत्र अधिकारी पन्ना कोर लालबाबू तिवारी के निर्देशन में वन रक्षकों की टीम ने धावा बोल कर न केवल आरोपी अतिक्रमणकारी को गिरफ्तार किया बल्कि उसे न्यायालय में पेश करते हुए जेल की सलाखों में डाल दिया।

बता दें कि मध्य प्रदेश के वनांचल में भू- माफिया लंबे समय से जमीनों पर कब्जा कर अपना उल्लू सीधा करने में जुटे हैं। इससे एक ओर जहां वन क्षेत्र की जमीन पर कब्जा हो रहा है, वहीं पट्टे पर आदिवासियों की दी गई जमीनों पर भी भू माफिया कब्जा जमाए हैं। पट्टे की जमीन पर खेती कर रहे हैं। इस बाबत पत्रिका ने शुक्रवार को ही खबर चलाई थी।

ये भी पढें- नदी से लेकर जंगल तक महफूज नहीं, माफिया का तांडव बदस्तूर जारी

इसी दौरान पन्ना टाईगर रिजर्व कोर परिक्षेत्र में शिवराजनगर ग्राम पंचायत इटवांकला में बफर क्षेत्र की बीट उत्तर बांधी में अतिक्रमणकारी लालबाबू गौड़ पिता भूरा गौड़ उम्र 42 वर्ष को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

वन क्षेत्र में अतिक्रमण

बता दें कि इसके पहले 14 अगस्त को भी इसके द्वारा महिलाओं के बड़े समूह को एकत्र कर इसी वन क्षेत्र पर अवैध रूप से झोपड़ियां बनाने का प्रयास किया जा रहा था। वही आरोपी पुनः दो सितंबर को वनक्षेत्र की झाड़ियां व पौधों की कटाई कर मकान टपरा बनवा रहा था। इसकी सूचना मिलने पर मोरध्वज सिंह पटेल वनपाल, प्रियंका पनिका वनरक्षक व अन्य स्टॉफ मौके पर पहुंचे और आरोपी को पकड़कर उसके पास से कुल्हाडी व फावड़ा जब्त कर विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर न्यायालय में पेश किया।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned