रेलवे स्टेशन में एक इंट्री-एक्जिट बनेगी आफत

व्यवस्था में सेंध

By: Pushpendra pandey

Updated: 18 Apr 2020, 07:13 PM IST

सेकंड इंट्री नहीं होने से लॉकडाउन के बाद होगी समस्या
सतना. कोरोना वायरस के खतरे के बीच जारी लॉकडाउन में यात्री ट्रेनों का परिचालन पूरी तरह बंद है। ट्रेनें कब से चालू होंगी, रेलवे ने इसकी अभी घोषणा नहीं की है लेकिन स्टेशन पर तैयारी बनाई जाने लगी है। पश्चिम मध्य रेल के व्यस्त स्टेशन में शामिल सतना में आरपीएफ ने यात्रियों की सोशल डिस्टेङ्क्षसग के लिए सर्कुलेटिंग एरिया से लेकर प्लेटफॉर्म में गोले बना दिए हैं। ट्रेन यात्रा जब शुरू होगी तो यात्रियों को स्क्रीनिंग के लिए चार घंटे पहले स्टेशन पहुंचना होगा। जबलपुर स्टेशन में नई व्यवस्था का डेमो हो गया है अब सतना की बारी है। सतना स्टेशन में एक ही इंट्री-एक्जिट होने से सोशल डिस्टेंसिंग की व्यवस्था बनाने रेल अधिकारियों को खासी मशक्कत करनी पड़ेगी। यहां से रोजाना १७४ यात्री ट्रेनों का आवागमन होता है और करीब ३५ हजार यात्री सतना स्टेशन से चढ़ते-उतरते हैं। रेलवे अधिकारी भी यह मानते हैं कि शाम ६ से रात ११ बजे तक जब ट्रेनों की फ्रीक्वेंसी सबसे ज्यादा होती है उस दौरान व्यवस्था बनाना बड़ी चुनौती होगी। बताया गया कि स्टेशन में सेकंड इंट्री का प्रोजेक्ट तीन साल से लंबित है।

Pushpendra pandey Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned