EOW की रेड: सेवानिवृत्त SDO का घर उगल रहा सोना, नोट गिनने की लगाई गई मशीन

EOW की रेड: सेवानिवृत्त SDO का घर उगल रहा सोना, नोट गिनने की लगाई गई मशीन

suresh mishra | Publish: Sep, 05 2018 04:41:48 PM (IST) Satna, Madhya Pradesh, India

आय से अधिक का मामला, जलसंसाधन विभाग सिवनी से सेवानिवृत्त हुए थे केपी तिवारी

सतना। मध्यप्रदेश के सतना, जबलपुर और भोपाल शहर में एक साथ ईओडब्ल्यू ने रेड मारी है। ये रेड सिवनी से सेवानिवृत्त हुए जलसंसाधन विभाग के एसडीओ केपी तिवारी के घरों में पड़ी है। बताया गया कि इरिगेशन के रिटायर्ड एक्जीक्यूटिव इंजीनियर के खिलाफ भ्रष्टाचार सहित आय से अधिक संपत्ति के मामले की शिकायत ईओडब्ल्यू में दर्ज थी। जांच के बाद मामला सही पाए जाने पर न्यायालय के सर्च वारंट पर बुधवार की सुबह एक साथ तीनों घरों में दबिश दी गई।

जहां नौकरी के वेतन से 350 % ज्यादा कमाई मिली। तिवारी के जबलपुर और सतना में 3 आलीशान मकान मिले। 120 एकड़ से ज्यादा जमीन के कागज बरामद हुए है। सतना के सिविल लाइन में एक पेट्रोल पंप, कई पेट्रोल टैंकर, लग्जरी गाडिय़ों का जखीरा और लाखों की नगदी मिली है।

ये है मामला
मिली जानकारी के अनुसार जबलपुर स्थित कटंगा चौराहे के समीप एपीआर कालोनी निवासी उपयंत्री केपी तिवारी के खिलाफ एक शिकायत पर ईओडब्ल्यू ने छापा मारने की प्लानिंग की। बुधवार सुबह तिवारी के निवास पर ईओडब्ल्यू ने मारा छापा है। जिससे पहले तो परिवार हड़बड़ा गया, लेकिन उसकी एक न चली। ईओडब्ल्यू ने उसके सभी दस्तावेजों के साथ जांच शुरू कर दी है। सूत्रों की मानें तो उपयंत्री के पास 50 करोड़ से ज्यादा की अचल संपत्ति मिलने का अनुमान है। जबलपुर में राज्यवर्धने माहेश्वरी के निर्देशन में कार्रवाही हो रही है। वहीं दूसरी टीम में शामिल स्वर्णजीत धामी, रीना पांडेय द्वारा सतना में छापा मारा गया है। सूत्रों के अनुसार उपयंत्री तिवारी के घर यह दूसरी बार पड़ा छापा। इसके पहले 1998 में भी छापा पड़ चुका है। ईओडब्ल्यू सूत्रों ने बताया कि तिवारी के जबलपुर स्थित घर के अलावा सतना, भोपाल, बराकला (सतना) में भी छापा मारा गया है। प्रारंभिक जांच में तिवारी के पास सतना में एक पेट्रोल पंप, 120 एकड़ कृषि भूमि, बैंकों में 19 खाते, टैंकर,स्कार्पियो जैसे 5 वाहन, कई प्लाट, ज्वेलरी व नगदी का पता चला है।

नोट गिनने की मंगाई गई मशीन
सतना में ईओडब्ल्यू की जांच अधिकारी स्वर्णजीत धामी और रीना पांडेय ने नोट की गड्डियां देखकर कुछ समय के लिए चौंक गई। बाद में नोट गिनने की मशीन मंगाई गई। वहीं सोने की बिस्किट और भारी मात्रा में ज्वेलरी देखकर सोने और गहनों के बजन के लिए सुनार बुलाया गया। बताया गया कि ज्यादातर सम्पत्ति अपने पुत्र और पत्नी के नाम पर बनाई है।

Ad Block is Banned