पवन एक्सप्रेस में इस तरह भड़की थी आग, चलती ट्रेन से कूद गए यात्री, धुआं उठता देख यात्रियों में हड़कंप

पवन एक्सप्रेस में इस तरह भड़की थी आग, चलती ट्रेन से कूद गए यात्री, धुआं उठता देख यात्रियों में हड़कंप
fire caught in Pawan Express train of satna prayagraj rail khand

Suresh Kumar Mishra | Updated: 04 Jun 2019, 12:44:20 PM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

सतना-इलाहाबाद रेलखंड के बीच बॢनंंग ट्रेन बनने से बची पवन एक्सप्रेस, बरगढ़ स्टेशन पर तकनीकी स्टाफ ने आग पर पाया काबू

सतना। सतना-इलाहाबाद रेलखंड के बीच सोमवार को बड़ा हादसा टल गया। मुंबई से दरभंगा जा रही सुपरफास्ट पवन एक्सप्रेस के स्लीपर कोच में आग लग गई। मानिकपुर से इलाहाबाद के बीच बरगढ़ के पास एस-3 कोच से धुआं उठता देख यात्रियों में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में चैनपुलिंग करते हुए ट्रेन रोकी गई और टीसी व पुलिसकर्मियों को जानकारी दी गई। इस दौरान चलती ट्रेन से कई यात्री कूद भी गए। हालांकि कोई हताहत नहीं हुआ।

रेलवे तकनीकी स्टाफ ने अग्निशमन यंत्रों से आग पर काबू पाया, जिसके बाद यात्रियों ने राहत की सांस ली। बताया गया, 11061 डाउन ट्रैक पर पवन एक्सप्रेस सोमवार सुबह लोकमान्य तिलक से दरभंगा जा रही थी। मानिकपुर जंक्शन चित्रकूट से ट्रेन चलने के बाद अगला ठहराव नैनी प्रयागराज में था। सुबह लगभग 9 बजकर 19 मिनट पर पवन एक्सप्रेस कटैया-डांडी रेलवे स्टेशन से इलाहाबाद की ओर जा रही थी, तभी कटैयाडांडी व बरगढ़ स्टेशन के बीच ट्रेन की एस-3 स्लीपर बोगी में ब्रेक-शू के पास से धुआं उठता नजर आया।

यह देखकर यात्रियों में अफरा-तफरी मच गई। जानकारी होते ही पूरी बोगी के यात्री दहशत में आ गए। कुछ ही देर में बोगी के निचले हिस्से में आग लग गई। लपटें उठती देखकर आनन-फानन में चेन पुलिंग कर यात्रियों ने ट्रेन रोकी। ट्रेन बरगढ़ स्टेशन पर रुक गई। स्टेशन पर मौजूद रेलवे तकनीकी स्टाफ ने दौड़कर अग्निशमन यंत्रों से आग पर काबू पर पाया।

जबलपुर में हुई थी चेंकिंग
बरगढ़ स्टेशन मास्टर अरुण कुमार तिवारी ने बताया कि जबलपुर में चेकिंग के बाद ट्रेन आगे बढ़ाई गई थी। आग लगने का कारण ब्रेक बाइंडिंग होना है। ब्रेक शू में दिक्कत से ऐसी स्थिति बनी थी। आग लगने के बाद करीब एक घंटे तक ट्रेन रुकी रही। आग बुझने के बाद 10.24 बजे पर ट्रेन आगे के लिए रवाना हुई।

स्टेशन पर अफरा-तफरी का माहौल
आग की जानकारी मिलने के बाद यात्रियों में हड़कंप मच गया। चीख पुकार के बीच किसी ने चेन पुलिंग की और बरगढ़ स्टेशन पर ट्रेन रुकी। ट्रेन की रफ्तार कम होते ही यात्री अपना सामान लेकर कूदने लगे, पूरे स्टेशन पर अफरा-तफरी का माहौल बन गया। सूचना मिलते ही बरगढ़ स्टेशन पर ही रेल कर्मियों ने आग को नियंत्रित कर लिया। जिससे कोई हताहत नहीं हो पाया और लगभग एक घंटे बाद ट्रेन को सुरक्षित इलाहाबाद की ओर रवाना कर दिया गया।

100 किमी की रफ्तार में थी ट्रेन
चित्रकूट के कटैया डांडी रेलवे स्टेशन के पास ब्रेक शू के पास आग लगने के दौरान ट्रेन 100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार में थी। मानिकपुर जंक्शन चित्रकूट से ट्रेन चलने के बाद अगला स्टापेज नैनी प्रयागराज में था। इस दौरान यात्रियों की निगाह नहीं पड़ती, तो बड़ा हादसा तय था। एस-2 और एस-3 बोगी के यात्रियों ने चेन पुलिंग कर ट्रेन रोकी। 10.24 बजे ट्रेन आगे के लिए रवाना कर दी गई है।

यात्रियों की निगाह पडऩे से टला हादसा
बॢनंग ट्रेन बनने से पवन एक्सप्रेस बच गई। इसके पीछे की वजह यात्री रहे। ट्रेन के गार्ड या चालक को घटना की जानकारी ट्रेन रुकने के बाद हुई। इससे एक बार फिर रेलवे प्रशासन की सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सवाल खड़े हो गए हैं।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned