Weather अगहन में ठंड गायब,5 डिग्री अधिक गर्म रहा दिसंबर का पहला दिन

रबी की फसलों पर मौसम की मार गेंहू की फसल प्रभावित

By: Sukhendra Mishra

Published: 02 Dec 2019, 11:41 PM IST

सतना. अगहन भी आधा बीत चुका है लेकिन ठंड है कि आने का नाम नहीं ले रही। नवंबर में दिन ओर रात का पारा सामान्य से अधिक रहने के कारण इस वर्ष अच्छी बारिश के बाद जोरदार ठंड पडऩे की उम्मीद फीकी पडऩे लगी है। दिसंबर के पहले दिन भी ठंड गायब रही.दिन में निखरी तेज धूप के कारण लोगों को गर्मी का सामना करना पड़ा।दिसंबर में मौसम की बेरूखी रबी की फसलों पर भारी पडऩे लगी है।गेहूं की बोवनी के लिए जिले के किसानों को अभी भी कड़ाके की ठंड का अंतजार हैं। कृषि अधिकारियों का कहना है कि दिन और रात का तापमान सामान्य से अधिक दर्ज हो रहा है। यह मौसम खेती के लिए अनुकूल नहीं हैं। ठंड के मौसम में गर्मी का एहसास फसलों के लिए नुकसान देह हैं। जिन किसानों ने गेहूं की बोवनी कर दी है। गर्मी मौसम में वह खराब हो रही है। मौसम में उतार चढ़ाव के कारण दलहनी फसलों की ग्रोथ में कम हो गई है।

इस वर्ष कड़ाके की ठंड की उम्मीद कम

मौसम विभाग ने दिसंबर से फरवरी के लिए मौसम की जो भविष्यवाणी की है। वह किसानों के लिए निराश करने वाली है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि इस वर्ष उत्तर भारत को छोड़ कर मध्य व पश्चिम में औसत से कम ठंड पड़ेगी। दिसंबर से फरवारी के बीच का तापमान सामान्य से एक डिग्री अधिक दर्ज हो सकता है। यह स्थित अलनीनो इफेक्ट के कारण बन रही है। यदि आने वाले दिनों में कड़ाके की ठंड नहीं पड़ी तो गेहूं की फसल प्रभावित होना तय है।
दो दिन बाद बदलेगा मौसम

पहाड़ों पर हो रही जोरदार बर्फबारी का असर विंध्य के मौसम में भी पडऩे वाला है। हवाओं का रूख बदलने से अगले दो दिन में विंध्य के तापमान में गिरावट दर्ज होगी। इससे ठंड की रफ्तार बढऩे का अनुमान है। लेकिन आगे भी मौसम में उतार चढ़ाव का क्रम बना रहेगा। इसलिए इस वर्ष लोगों को कड़ाके की ठंड से कुछ राहत मिल सकती है।
रविवार को दिन का अधिकतम तापमान 28.5 डिग्री तथा न्यनतम तापमान 16.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से पांच डिग्री अधिक था।

Sukhendra Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned