महिषामर्दिनी के स्वरूप में सरस्वती, लक्ष्मी, पार्वती तीनों देवियां समाहित

महिषामर्दिनी के स्वरूप में सरस्वती, लक्ष्मी, पार्वती तीनों देवियां समाहित
Great arrangement of Maharti by Bhagwati Human Welfare Organization

Jyoti Gupta | Publish: Feb, 11 2019 09:01:20 PM (IST) | Updated: Feb, 11 2019 09:01:21 PM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

भगवती मानव कल्याण संगठन शाखा द्वारा महाआरती का भव्य आयोजन

सतना. भगवती मानव कल्याण संगठन शाखा नागौद द्वारा गांधी चौराहे के पास राजू ताम्रकार के निज निवास पर धर्म सम्राट युग चेतना पुरुष परमहंस योगीराज शक्तिपुत्र महाराज के निर्देशन मार्गदर्शन में महाआरती का कार्यक्रम संपन्न किया गया । जिसमें सैकड़ों की संख्या में महिला और पुरुष भक्त मौजूद रहे। सबसे पहले पूज्य गुरुदेव के जयकारे भगवती मानव कल्याण संगठन शाखा रामपुर तहसील सचिव मनोज गुप्ता ने लगाए। मां जगत जननी जगदंबे मां के जयकारे नागौद तहसील के सचिव वीर बहादुर द्वारा लगाए गए। कार्यक्रम में मां और ओम दिव्य मंत्रों का जाप किया गया। समापन अवसर पर साधना क्रम की जानकारी देते हुए लवकेश सिंह ने कहा कि हम सभी मां के भक्तों का सौभाग्य है कि वसंत पंचमी के पावन अवसर पर हम सभी भक्तों को मां महिषामर्दिनी स्वरूप की साधना करने का सौभाग्य प्राप्त हो रहा है। परम पूज्य परमहंस योगीराज शक्तिपुत्र महाराज ने कहा है कि मां के महिषामर्दिनी स्वरूप में मां के तीनो रूप समाहित है क्योंकि इस जीवन को संचालित करने के लिए हमें तीनों देवियों की कृपा की आवश्यकता है। भारतीय शक्ति चेतना पार्टी के केंद्रीय कार्यकारिणी सदस्य महेंद्र सिंह परिहार ने कहा कि हम सभी लोगों को मिलकर समाज में स्वच्छ और सभ्य माहौल बनाने की जरूरत है । भारतीय शक्ति चेतना पार्टी के जिला अध्यक्ष अशोक गुप्ता ने कहा कि एक एक व्यक्ति से ही देश में परिवर्तन होता है। भक्तों का आभार नागौद तहसील के अध्यक्ष सौखी लाल सेन जी ने किया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned