विंटर में हर्बल टी की चुस्की

विंटर में हर्बल टी की चुस्की
Herbal Tea Sootle in Winter

Jyoti Gupta | Publish: Dec, 27 2018 04:25:53 PM (IST) Satna, Satna, Madhya Pradesh, India

स्वाद और मूड बनाए रखने के लिए शहरवािसयों में बढ़ी इसकी लोकप्रियता

सतना. डेली रूटीन में चाय का अहम रोल है हालांकि सुबह की शुरुआत से चाय से ही होती है, लेकिन जरूरी नहीं कि उसके बाद इसकी जरूरत न पड़े। जरा सा दिमाग में जोर पड़ा या थकान महसूस हुई नहीं कि चाय की तलब होने लगती है। सबसे बड़ी बात यह है कि हमारे यहां चाय व्यवहार का भी प्रतीक माना जाता है । मेहमान नवाजी में चाय टॉप वन में शुमार रहती है। जब कोई चाय पर बुलाता है तो उसके कई रीजन भी होते हैं । चाय की चुस्की के साथ ही अहम मुदद् पर चर्चा हो जाती है। शहर के कई ऐसे इलाके हैं जो सिर्फ चाय के लिए फेमस है। यही वजह है कि अब चाय में भी कई वैराइटी देखने को मिल रहा है। दूध और चाय की पत्ती से बनने वाली चाय अब हर्बल तक पहुंच गई है और लोगों के बीच में हर्बल चाय की मांग भी बनी हुई है। इसके अलावा तुलसी के साथ दूसरे हर्ब की भी चाय तैयार कर इसका आनंद ले रहे हैं। इसकी एक वजह उनके बीच सेहत का ख्याल रखना भी है।

मुलेठी पाउडर की चाय से दूर होंगे बॉडी से टॉक्सिंस

विंटर में होने वाली परेशानियों जैसे गले में खराश, सर्दी और जुकाम के लिए मुलेठी की चाय रामबाण साबित होती है । बॉडी के मेटाबॉलिज्म के लिए असरदार मानी जाती है । क्योंकि इससे लीवर की गंदगी भी साफ होती है। मुलेठी पाउडर आपको किसी भी आयुर्वेद शॉप में मिल जाएगा । चाय बनाते वक्त चुटकी भर पाउडर में इसमें डालें जो लोग मीठी चाय पीते हैं वे स्वाद के मुताबिक हनी डाल सकते हैं । इस चाय से बॉडी के टॉक्सिन निकल जाते हैं जो कि मुलेठी में कार्बन टेट्राक्लोराइड का गुण पाया जाता है ।

एंटीऑक्सीडेंट्स है तुलसी

वैसे तो तुलसी के पत्ते में तमाम गुण पाए जाते हैं, जो फ ाइबर से लबरेज होती है। चीनी कोलेस्ट्रोल और कैफ ीन फ्री होती है। एक कप पानी में पांच से छह तुलसी की धुली हुई पत्तियों को डालकर करीब चार मिनट के बाद के मन मुताबिक शहद और नींबू का रस डालकर पी सकते हैं। इसमें इलायची और अदरक को भी कैरी किया जा सकता है।

दालचीनी और हल्दी का फ्यूजन

हेल्दी और टेस्टी चाय का आनंद लेने के लिए दालचीनी और हल्दी का फ्यूजन कारगर रहेगा। इससे बनाने के लिए उबलते पानी में दालचीनी, अदरक और हल्दी के टुकड़े डाल दें। कच्ची हल्दी हो तो पाउडर का इस्तेमाल न करें। चाहे तो नींबू और शहद का यूज भी कर सकते हैं ।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned