घर के बगल में बने बाड़े में रखी जा रही थी अवैध रेत, देर रात कार्रवाई कर पकड़ा

वन, राजस्व और खनिज की संयुक्त दबिश

सतना. मझगवां तहसील अंतर्गत कौहारी में रेत का अवैध खनन और परिवहन जोरों पर जारी है। यहां नदी से लोग ट्रैक्टर के माध्यम से रेत निकालते हैं और उसे अन्यत्र भंडारित कर बेचते हैं। पहले इनके द्वारा यह रेत वन क्षेत्र में रखी जा रही थी लेकिन वहां सख्ती के बाद रेत माफिया ने इसे गांव में ही एक बाड़ा बनाकर वहां रखना शुरू कर दिया था। इसी बीच मुखबिरों ने सूचना सरकारी अमले को दी। इस पर तहसीलदार मझगवां के नेतृत्व में वन और खनिज की टीम ने रात को दबिश दी। कार्रवाई में व्यापक पैमाने पर रेत का भंडारण पाया गया है।
मझगवां के तराई के दस्यु प्रभावित माने जाने वाले गांव कौहारी में रेत का व्यापक पैमाने पर अवैध कारोबार होता है। स्थानीय लोगों का कहना है कि यहां प्रेमलाल और कल्लू रेत के अवैध कारोबार में लिप्त हैं। ये दोनों सरहंगी से कौहारी स्थित नदी से रेत निकलवाते हैं फिर इसे भंडारित कर बेचते हैं। हाल ही में मुखबिर ने सरकारी अमले को सूचना दी। इस पर तहसीलदार सुधाकर सिंह बघेल के नेतृत्व में टीम गठित की गई। रेत वन भूमि में न हो इसको लेकर वन अमले को भी शामिल किया गया। इसमें रेंजर बरौधा दिग्विजय सिंह अपनी टीम के साथ शामिल हुए। खनिज निरीक्षक पवन कुशवाहा भी टीम में रखे गए। बुधवार की रात को टीम ने कौहारी गांव में दबिश दी। वन क्षेत्र में तलाश किये जाने पर रेत का भंडारण नहीं मिला। इसके बाद गांव में टीम घुसी और गांव के शुरुआती घरों से लगे बाड़ों की तलाश की जाने लगी। तब एक घर के बगल में बने बाड़े में रेत का व्यापक स्टाक पाया गया। लगभग 150 घन मीटर रेत का भंडारण पाया गया।

कोई नहीं आया सामने

टीम ने यहां लोगों से पूछताछ शुरू की तो सभी ने अनभिज्ञता जाहिर की। इस दौरान कोई सामने भी नहीं आया। हालांकि संबंधित रेत को जब्त कर लिया गया है। इसका प्रकरण बना कर कलेक्टर को प्रस्तुत किया जाएगा। इधर प्रकरण जिसकी जमीन होगी उसके नाम बनाया जाएगा। राजस्व अमले से खनिज विभाग ने संबंधित जमीन के भू-स्वामी की जानकारी तलब की है।
पहले भी हो चुकी कार्रवाई
तत्कालीन एसडीएम ओम नारायण सिंह के कार्यकाल में भी यहां रेत का व्यापक भण्डारण जब्त किया गया था लेकिन ठोस कार्रवाई के अभाव में रेत माफिया अभी भी सक्रिय रहा। इसकी समय-समय पर शिकायतें भी की जाती रही हैं।

Ramashanka Sharma Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned